Breaking News

हेमा श्रीवास्तव नाम की महिला खुद को बता रही सीएम योगी की प्रेमिका

सीएम योगी आदित्यनाथ के सरकारी आवास, पांच कालीदास मार्ग पर आज एक महिला की जिद से सनसनी फैल गई. कानपुर नगर के नवाबगंज में मकान नंबर 2/419 की रहने वाली हेमा श्रीवास्तव (Hema Srivastava) ने प्रातः काल सीएम योगी आदित्यनाथ के आवास पर पहुंचकर उनसे मिलने की जिद प्रारम्भ कर दी.

पिछले एक साल से ऑनलाइन

हेमा श्रीवास्तव अपने आप को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की प्रेमिका बता रही है  उसका दावा है कि योगी आदित्यनाथ पिछले एक साल से ऑनलाइन प्रातः काल से लेकर रात तक उसके साथ रहते हैं. यह महिला तलाकशुदा है  सीएम योगी आदित्यनाथ से इसका क्या रिश्ता है यह तो पड़ताल का विषय है लेकिन, यह 100 रुपया के स्टांप पर उन्हें अपना प्रेम लेटर लिख कर ले आई है.

महिला वह योगी को सीधे सौंपना चाहती है  इस प्रेम लेटर में उसने बहुत कुछ लिखा है. हेमा का बोलना है कि आपके पर्सनल ज़िंदगी पर कुछ भी असत्य कहने पर क्या कार्यवाही हो सकती है इससे मैं बहुत अच्छी तरह से परिचित हूं. सीएम जी आप एक वर्ष से प्रातः काल से रात तक मेरे साथ औनलाइन रह रहे हैं  अब आपको असली ज़िंदगी में भी मेरे साथ रहना होगा. उसने इस लेटर में लिखा है कि मेरी विवाह एक लालची परिवार में हो गई थी  अन्य किसी आदमी को मैं नहीं जानती.

मैं अपने परिवार में केवल अपनी माता से रिश्ता मानती हूं. मैं तीन वर्ष से घर से बाहर रहकर संघर्षपूर्ण ज़िंदगी जी रही हूं. कभी हास्टल में रहती हूं तो कभी किराए का कमरा लेकर इधर-उधर भटकते रहते हैं. लेटर में लिखा है कि सीएम जी हम असली ज़िंदगी में भी आपके साथ रहना चाहते हैं. इस महिला के हाव भाव से यही लग रहा है कि मानसिक स्थिति अच्छा नहीं है. युवती के इस बयान से मौके पर कानाफूसी होना प्रारम्भ हो गई. ये बात सुनकर महिला के पास लोगों की भीड़ लगनी प्रारम्भ हो गई. महिला ने बताया कि अपना लव पत्रउपमुख्यमंत्री को दो दिन पहले दिया था. उन्होंने महिला को आश्वासन दिया था.

उसने लिखा है कि सीएम जी मेरा ज़िंदगी बहुत संघर्षपूर्ण रहा है  अभी भी है मेरा दुर्भाग्य रहा कि मैं बहुत सी बेकार परिवार में पैदा हो गई. मेरा तलाक हो चुका है मैं अपने परिवार से केवल अपनी माता से रिश्ता मानती हूं. अन्य किसी भी आदमी को मैं नहीं जानती मेरा किसी से कोई भी रिश्ता नहीं है. मेरी मम्मी ही मेरा योगदान करती है वह ज्यादा समय तक मेरा योगदान नहीं कर सकती क्योंकि वह महिला हैं  बहुत ज्यादा वृद्धा हैं. हेमा श्रीवास्तव के पिता का नाम सुनील श्रीवास्तव है  वह टेंट का कारोबार करते हैं.

लोगों का यह बोलना है कि एक संत के ऊपर इस तरह की बातें बोलना एक मूर्खता को दर्शाता है. वैसे मुद्दा क्या है क्या युवती मानसिक रूप से बीमार है या इसकी वजह कोई  है यह तो पुलिस की पड़ताल में सामने आएगा.अभी इस विषय पर सरकार की ओर से कोई बयान नहीं है. सरकारी प्रवक्ता ने अनभिज्ञता जताई है.

About manage

Check Also

सुप्रीम कोर्ट ने 50 हजार शिक्षकों को दी बड़ी रहात

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के करीब 50 हजार शिक्षकों को सुप्रीम कोर्ट के फैसले ने बड़ी ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *