Akhilesh yadav says these election are the elections of great change
Akhilesh yadav says these election are the elections of great change

भाजपा को सत्ता से बेदखल करना भारत हित में सर्वोपरि : अखिलेश

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि विडम्बना है कि देश को आजाद हुए सत्तर वर्ष हो गए हैं लेकिन आज भी देश के अन्नदाता किसान और देश के भविष्य नौजवान की समस्याओं के स्थायी समाधान का कोई रास्ता प्रशस्त नहीं हो सका है। कृषि अर्थव्यवस्था और अवस्थापना क्षेत्र के विकास के लिए कोई सुनियोजित व्यवस्था नहीं बन सकी है। सामाजिक न्याय की दिशा में ठोस प्रयास नहीं हो रहे हैं। स्वतंत्रता आंदोलन के जिन मूल्यों के साथ हमने भारत के संविधान को आत्मार्पित किया था उनको भुलायें जाने की साज़िश की जा रही है। भाजपा को सत्ता से बेदखल करना भारत के हित में सर्वोपरि है।

अंतिम पायदान पर खड़े व्यक्ति को

श्री यादव ने कहा कि समाजवादी पार्टी की मान्यता है कि नीति के साथ नीयत भी साफ होनी चाहिए। जनहित की जो तमाम योजनाएं समाजवादी सरकार में लागू की गई थीं उनमें भेदभाव की दृष्टि नहीं थी। अंतिम पायदान पर खड़े व्यक्ति को भी जीवन की मूलभूत आवश्यकताएं उपलब्ध कराने की थी। समाजवादी सरकार की नीतियां बेसहारा का सहारा बनने और बेजुबान की आवाज बनने की थी।

राजनीति को रचनात्मक और विकास परक दिशा

उन्होंने कहा,समाजवादी पार्टी-बहुजन समाज पार्टी का गठबंधन इसलिए बना है कि वह राजनीति को रचनात्मक और विकास परक दिशा दे सकें। आज ज़हर घोलने वाले मनमानी कर रहे हैं। इन पर बंदिश लगना चाहिए। भारत ने गतवर्षों में राजनीति को कुछ निहित स्वार्थो का बंधक बनते हुए पाया है। अवसरवादिता को विस्तार मिला है। केन्द्र और राज्य में भाजपा सरकारों ने अब तक एक ही बात सीखी है कि समाजवादी पार्टी के कार्यों पर अपना ठप्पा लगाकर उसका श्रेय ले लो। अक्षयपात्र योजना समाजवादी सरकार ने शुरू की थी उसे भगवा रंग देना अनैतिकता की हद है।

भाजपा सरकार में कुम्भ की तथ्यहीन विवरण

कुम्भ की जो व्यवस्था समाजवादी सरकार में हुई थी उसकी प्रशंसा विदेशों तक में हुई थी। हार्वर्ड विश्वविद्यालय के शोधार्थी उसका अध्ययन करने आए थे। भाजपा सरकार द्वारा उसके बारे में तथ्यहीन और अपने कार्यकाल का अतिरंजित विवरण देना स्वस्थ परम्परा नहीं है। इन जनविरोधी और लोकशाही को कुंठित करने वाली प्रवृत्तियों के प्रतिरोध की जरूरत है। वैसे भी जीत अंततः जनता की ही होती है उसकी आशा-आकांक्षाओं से जो खिलवाड़ करेगा, जनता उसे माफ नहीं करेगी।

About Samar Saleel

Check Also

amethi returning officer postponed rahul gandhi nomination till 22nd april

अमेठी में राहुल गांधी के नामांकन पत्र की जांच 22 अप्रैल तक टली

लखनऊ। कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी यूपी के नामांकन पत्र की जांच रिटर्निंग ऑफिसर ने 22 ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *