Airtel के भारतनेट से गांवों में मिलेगी ब्रॉडबैंड सुविधा

लखनऊ। भारत की सबसे बड़ी दूरसंचार सेवा कंपनी भारती Airtel ने ग्रामीण भारत में भारतनेट के माध्यम से ब्रॉडबैंड सुविधा देने की शुरूआत की है। ग्रामीण भारत में ब्रॉडबैंड के विस्तार के लिए दूरसंचार विभाग के साथ एयरटेल ने भारतनेट के इंफ्रास्ट्रक्चर के माध्यम से ब्रॉडबैंड अनुभव केंद्रों का पायलट शुरू किया हैं। जिससे एयरटेल ने उत्तर प्रदेश के गाजीपुर, गोरखपुर और वाराणसी जिलों से संबद्ध तीन गांवों में तीन ब्रॉडबैंड अनुभव केंद्र शुरू किए हैं। एयरटेल पहले से ही लगभग 30500 ग्राम पंचायतों में भारतनेट के साथ साझेदारी करने के लिए प्रतिबद्ध है। ये अत्याधुनिक केंद्र नागरिकों और स्थानीय उद्यमियों को हाई स्पीड ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी का अनुभव प्रदान करने के साथ साथ ई-गवर्नेंस ई-हेल्थ एवं ई-बैंकिंग और ई-कॉमर्स के उपयोग में सक्षम बनाएंगे। आने वाले समय मेंए ये केंद्र उन्नत तकनीकों का भी प्रदर्शन करेंगे और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस एवं इंटरनेट ऑफ थिंग्स का भी उपयोग करेंगे।

Airtel, दूरसंचार विभाग का भारतनेट कार्यक्रम

एयरटेल इन केंद्रों को दूरसंचार विभाग के भारतनेट कार्यक्रम के माध्यम से 100 उइचे की ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी प्रदान करता है। अन्य डिजिटल और वेब आधारित सेवाएं प्रदान करने के लिए एयरटेल ने जीवा आयुर्वेद, ऑनलाइन स्वास्थ्य परामर्श, तक्षशिला ई-लर्निंग सर्विसेज, शैक्षणिक सेवाएं, और अमेज़ॉन, अमेज़ॉन ईको स्मार्ट स्पीकर के साथ साझेदारी की है।

भारतनेट से निर्बाध कनेक्टिविटी

भारतनेट के अंतर्गत, दूरसंचार विभाग, भारत सरकार ने ऑप्टिकल फाइबर कनेक्टिविटी के साथ 2.5 लाख ग्राम पंचायत के गांवों को जोड़ने के लिए एक दूरदर्शी परियोजना का शुभारंभ किया गया। इस परियोजना में ब्लॉक मुख्यालय से ग्राम पंचायत स्तर तक ऑप्टिकल फाइबर के विस्तार की परिकल्पना की गई है। पहले चरण में ग्रामीण आबादी को निर्बाध ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी प्रदान करने के लिए एक लाख गांवों को ऑप्टिकल फाइबर से जोड़ा गया है। परियोजना के दूसरे चरण में शेष 1.5 लाख ग्राम पंचायतों को जोड़ने का लक्ष्य रखा गया है। जिसे मार्च 2019 तक पूरा कर लिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *