cash गेम के षडयंत्र से सरकार को घेरने की कोशिश

देश के कई हिस्सों में सरकार को घेरने के लिए विपक्ष एकजुट हुआ है। जिसके अंतर्गत कई तरह की रणनीतियां अपनाई जा रही हैं। यही नहीं अब cash गेम खेलने की कोशिश की जा रही है। दरअसल वित्त मंत्रालय के दावे के अनुसार अचानक एटीएम से निकाले गये कैस के चलते कैश संकट पैदा करने की साजिश की जा रही है। आर्थिक मामलों के सचिव ने बताया कि पिछले 15 दिनों में सामान्य से तीन गुना ज्यादा नोटों की निकासी हुई। जिसके कारण कैश की दिक्कतें हुई हैं। वित्त मंत्रालय ने कहा कि कम से कम 5 राज्यों में कैश की किल्लत पैदा करने की कोशिश की गई। लेकिन कैश की किल्लत नहीं होने दी जाएगी।

cash की नहीं होने वाली दिक्कत

सरकार के अनुसार आम तौर पर एक महीने के दौरान 20 हजार करोड़ करेंसी की खपत होती है। लेकिन अप्रैल के पहले 12-13 दिनों के दौरान लगभग 45 हजार करोड़ रुपये की निकासी अलग-अलग तरीकों से की जा चुकी है। इन आंकड़ों के बावजूद केन्द्र सरकार ने दावा किया है कि उसके पास पर्याप्त मात्रा में करेंसी मौजूद है और अगले 2 से 3 दिनों के अंदर स्थिति को सामान्य कर लिया जाएगा। जनता को किसी तरह की दिक्कत नहीं होने दी जाएगी।

2-3 दिनों में एटीएम समस्या होगी दूर

कैश संकट के बीच केन्द्र सरकार ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए भरोसा दिया कि देश में नोटों की कोई कमी नहीं होने दी जाएगी। दो से तीन दिनों समस्या खत्म हो जाएगी। सरकार के पास अभी करीब 2 लाख करोड़ रुपये का भंडार है और पिछले 10-15 दिनों से 500 रुपये के नोटों की छपाई की रफ्तार भी बढ़ा दी गई है। केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली और वित्त राज्य मंत्री शिव प्रताप शुक्ल ने दावा करते हुए कहा कि करेंसी संकट को 2-3 दिनों में दूर कर दिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *