RBI ने बिटकाॅइन को किया धराशायी

इस सप्ताह गुरुवार को भारतीय रिजर्व बैंक RBI द्वारा डिजिटल मुद्रा में लेनदेन को गैरकानूनी घोषित किए जाने के बाद बिटकॉइन के भाव में औंधे मुंह गिरावट आई है। क्रिप्टो-करेंसी एक्सचेंज कॉइनोम ने शनिवार को कहा कि भारतीय बाजार में बिटकॉइन की कीमत गिरकर 3.5 लाख रुपये रह गई है, जबकि अंतरराष्ट्रीय बाजार में एक बिटकॉइन का भाव 6,617 डॉलर (4.3 लाख रुपये) के ऊपर है।

RBI के प्रतिबंध के बाद

ब्लॉकचेन एंड क्रिप्टोकरेंसी कमेटी के संस्थापक विशाल गुप्ता ने कहा कि RBI की घोषणा से पहले भारतीय बाजार में बिटकॉइन का भाव अंतरराष्ट्रीय बाजार से भी पांच फीसद ऊपर था। लेकिन अब यह भारी छूट के साथ उपलब्ध है।
हालांकि इंडसलॉ की प्रिंसिपल एसोसिएट और तकनीकी कानून की जानकार नमिता विश्वनाथ ने कहा कि सरकार का यह कदम बेहद आक्रामक है। उन्होंने कहा, श्बजाय इसके कि आरबीआइ एक समग्र कदम उठाता और डिजिटल मुद्रा के संभावित दुरुपयोग को रोकता, उसने मुद्रा पर पूरी तरह रोक का रास्ता चुना।श्

गौरतलब है कि शुक्रवार को जारी विस्तृत दिशानिर्देशों के तहत आरबीआई ने उससे संबद्ध सभी संस्थाओं को तीन महीने के अंदर डिजिटल मुद्रा से सभी संबंध तोड़ लेने का निर्देश दिया है। शनिवार को पाकिस्तान के केंद्रीय बैंक ने भी अपने सभी अधीनस्थ बैंकों और वित्तीय संस्थाओं को डिजिटल मुद्रा में लेनदेन से प्रतिबंधित कर दिया है।

बैंक ने यह भी कहा कि डिजिटल मुद्रा में पाकिस्तान से रकम बाहर भेजने वालों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। गुप्ता ने कहा कि देश में 40-50 लाख निवेशक किसी न किसी डिजिटल मुद्रा में निवेश कर चुके हैं। इनमें से करीब 60 फीसद निवेशकों ने पिछले वर्ष अक्टूबर-दिसंबर के दौरान इस तरह के निवेश बाजार में कदम रखा, जब डिजिटल मुद्रा का भाव आसमान छू रहा था। ऐसे में उन्हें पहले ही बड़ा नुकसान हो चुका है और अब आरबीआइ के प्रतिबंध के बाद उनकी पूरी संपत्ति कबाड़ में चली गई है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *