जाने कैसा हो आपका Moisturizer

अक्सर ऐसा होता है कि हमारे हाथों में जो भी मॉइश्चराइजर (Moisturizer)आता है। हम उसे ही यूज कर लेते हैं। जिसकी वजह से स्किन पर ब्लेमिशेज, पिंपल्स जैसी प्रॉब्लम्स हो जाती हैं। हेल्दी स्किन के लिए मॉइश्चराइजर एक बेसिक जरूरत है।

केयरफुली Moisturizer का सेलेक्शन

जरूरी है कि यह हमारी स्किन के अकॉर्डिंग ही हो। ऑयली स्किन सबसे ज्यादा सेंसिटिव होती है और कई बार प्रॉब्लेमैटिक भी हो जाती है। इसलिए इस स्किन के लिए बहुत ही केयरफुली मॉइश्चराइजर का सेलेक्शन करना चाहिए, लेकिन अक्सर हम इसे अवॉइड कर देते हैं। ऑयली स्किन के लिए सिर्फ वॉटर बेस्ड या जेल बेस्ड मॉइश्चराइजर ही सिलेक्ट करने चाहिए। ये स्किन नेचुरली ऑयल सेक्रीट करती है इसलिए इस टाइप की स्किन के लिए ऑयली मॉइश्चराइजर अवॉइड करना चाहिए।नॉर्मल स्किन बहुत ही क्लीन और क्लीयर टेक्सचर वाली होती है और ये प्रॉब्लेमैटिक भी नहीं होती है। इसकी खास बात ये है कि इसकी ज्यादा केयर करने की भी जरूरत नहीं होती है, लेकिन इसका मतलब ये नहीं कि आप कोई भी मॉइश्चराइजर यूज करें।नॉर्मल स्किन है तो मॉइश्चराइजर सही क्वॉन्टिटी में यूज करें। साथ ही मॉइश्चराइजर ऐसा हो जो न ज्यादा ऑयली हो और न ही पूरी तरह से जेल बेस्ड। इस टाइप की स्किन पर नॉर्मल लोशन भी अच्छे से काम करता है।

ऑयल बेस्ड मॉइश्चराइजर्स परफेक्ट

ड्राई स्किन में पहले से ही मॉइश्चर की कमी होती है, जिसकी वजह से अक्सर स्किन बहुत स्ट्रेच भी करती है। इस स्किन की अगर प्रॉपर केयर न की जाए तो इसमें क्रैक्स भी पडऩे लगते हैं। साथ ही इसमें रिंकल्स भी जल्दी पड़ते हैं। इस स्किन के लिए ऑयल बेस्ड मॉइश्चराइजर्स परफेक्ट रहते हैं क्योंकि ये उतनी ही मॉइश्चर प्रोवाइड करते हैं, जितनी स्किन को जरूरत होती है। अगर स्किन ज्यादा ड्राई हो तो रेग्युलर इंटरवल्स में मॉइश्चराइजर यूज करें।

स्प्रे करके इंस्टेंटली फ्रेश लुक

फेस के लिए कई तरह के मॉइश्चराइजिंग एजेंट्स मार्केट में मौजूद हैं। जानिए क्या है इनका यूज और कैसे आप इनको यूज कर सकते हैं।ये स्प्रिट्जर्स वॉटर बेस्ड सॉल्यूशंस होते हैं, जिनमें विटामिंस और फ्रेगरेंस भी होती है। वैसे तो ये कंप्लीट मॉइश्चर प्रोवाइड नहीं करते हैं लेकिन ये आपके कॉप्लेक्शन को फ्रेश जरूर रखते हैं। इनफैक्ट, अगर आपने मेकअप किया है और आप ट्रैवल कर रही हैं तो इसे स्प्रे करके इंस्टेंटली फ्रेश लुक पा सकती हैं।अगर आपको कॉम्प्लेक्शन से इश्यू है जैसे रिंकल्स, डार्क स्पॉट्स, डलनेस तो सिरम काफी बेनिफीशियल होता है। यह एक लाइटवेट अब्जॉर्बेंट प्रोडक्ट होता है। जो स्किन को अंदर से मॉइश्चराइज करता है। लेकिन ये भी आपको अपनी स्किन के अकॉर्डिंग यूज करना चाहिए। मार्केट में कई आयुर्वेदिक ऑयल्स अवेलेबल हैं जो स्किन की बहुत सी प्रॉब्लम्स से दूर रखते हैं। इन ऑयल्स की खासियत ये है कि इन्हें किसी भी स्किन पर यूज किया जा सकता है।

ये पूरी तरह से नेचुरल होते हैं और सेंसिटिव से लेकर एजिंग स्किन के लिए फायदेमंद होते हैं।


One thought on “जाने कैसा हो आपका Moisturizer

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *