Defense Expo : पीएम मोदी ने किया उद्घाटन

आज प्रधानमंत्री मोदी द्वारा तमिलनाडु में Defense Expo 2018 के उद्घाटन के साथ शानदार आगाज़ हुआ। इस दौरान प्रधानमंत्री ने लोगों को सम्बोधित भी किया। आज इस कार्यक्रम के उद्घाटन के साथ ही भारत सभी देशों को अपनी ताकत दिखाने को तैयार हो गयी है।

45 से अध‍िक देशों ने Defense Expo में भाग ल‍िया

चार द‍िनों तक तम‍िलाडु में चलने वाले इस ड‍िफेंस एक्सपो इंड‍िया 2018 में अमेरिका, ब्रिटेन, रूस, अफगानिस्तान स्वीडन, फिनलैंड, इटली, जैसे करीब 45 से अध‍िक देशों ने यहां भाग ल‍िया है। भारत की तरफ से इसमें बड़ी संख्‍या में देशी हथि‍यार देखने को म‍िल रहे हैं। इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने देश की जनता को संबोधित करते हुए कहा है क‍ि देश में शांति‍ और सुरक्षा को लेकर हम प्रत‍िबद्ध हैं।

आम नागर‍िक भी देखेंगे जहाजों का प्रदर्शन

  • ड‍िफेंस एक्‍सपो में 13 से 15 अप्रैल के बीच आम नागर‍िक भी भारतीय नौसेना के जहाजों का प्रदर्शन देख सकते हैं।
  • चेन्नई बंदरगाह पर लोग सुबह आठ बजे से शाम पांच बजे जहाजों को देख सकेंगे।

  • इस बार ड‍िफेंस एक्‍सपो में अलग से एक भारत पवेलियन बनाया गया है।
  • यहां हथ‍ियारों की ताकत द‍िखाई देगी। भारत रक्षा सिस्टम और उपकरणों के निर्यात में एक ब्रांड बनने की ओर अग्रसर है।
  • यहां लाइव प्रदर्शन, फ्लाइंग डिस्प्ले के अलावा सेमि‍नार आद‍ि आयोजि‍त होंगे।
  • सेमिनार द्वारा यह द‍िखाया जाएगा क‍ि अब तक भारत दूसरे देशों से रक्षा उपकरणों का आयात करता रहा है ,वह अब निर्माण और निर्यात करने में सक्षम है।
  • डीआरडीओ और उससे जुड़े करीब 40 से अध‍िक संस्थान इस प्रदर्शनी में अपनी क्षमता द‍िखाएंगे।
  • स्‍वदेशी उपकरणों में इनमें तेजस, अर्जुन मार्क 2 टैंक, बंदूकें और मिसाइल शानदार प्रदर्शन करेंगे।

500 से अधिक भारतीय कम्पनियाँ भाग ले रहीं

  • समुद्र के क‍िनारे हो रही इस रक्षा प्रदर्शनी के इस 10वें संस्करण में करीब 500 से अधिक भारतीय कंपनियां भाग ले रहीं है।
  •  इसमें 150 से अध‍िक अंतरराष्‍ट्रीय कंपन‍ियां भी शाम‍िल हो रही हैं।
  • पीएम इस रक्षा प्रदर्शन में शाम‍िल व‍िदेशी कंपन‍ियों का भी स्‍वागत क‍िया है।

 

देश नहीं ,दिल जीतता है भारत

इस अवसर पर पीएम ने कहा कि-

भारत की खासियत है क‍ि वह देशों को जीतने की बजाय, दिल जीतने की कोशि‍श में रहता है। यह भी सच है क‍ि भारतीय सैनिकों का संयुक्त राष्ट्र शान्ति सेना में व‍िशेष योगदान रहता है।

वहीँ रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने आश्वासन दिया की भारतीय सेना को हथियारों के खरीद को लेकर चिंतित होने की ज़रूरत नहीं है ,सेना के लिए पर्याप्त वित्तीय संसाधन उपलब्ध हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *