पीएम मोदी ने किया UP Investors Summit का उद्घाटन

लखनऊ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने UP Investors Summit के उद्घाटन किया। इस मौके पर समिट में केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह, अरुण जेटली, नितिन गडकरी, सुरेश प्रभु, रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण, स्मृति ईरानी, यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ, राज्यपाल राम नाइक के साथ मुकेश अंबानी और अन्य उद्योगपति मौजूद रहे। फिनलैंड, नीदरलैंड्स, जापान, चेक गणराज्य, थाइलैंड, स्लोवाकिया और मॉरीशस की पहचान इस समिट के लिए साझेदार देशों के तौर पर की गई है।

  • राष्ट्रपति कोविंद 22 फरवरी को सम्मेलन के समापन पर मौजूद रहेंगे।
  • दो दिवसीय समिट में दुनियाभर के 5 हजार उद्योगपति शामिल होंगे।

UP Investors Summit से 20 लाख युवाओं ​को मिलेगा रोजगार

इस समिट को आयोजित करने से उत्तर प्रदेश सरकार का दावा है कि युवाओं को रोजगार देने में ये सहायक होगी। अपने अभिभाषण में अंबानी ने कहा कि यूपी में बेहतर मानव संसाधन है। जिसे इस सामिट के माध्यम से रोजगार दिया जा सकेगा।

  • सरकार का दावा है कि इस समिट के जरिए प्रदेश के 20 लाख युवाओं को रोजगार मिलेगा।
  • इस समिट में लगभग 900 एमओयू पर साइन होंगे।

 

मेहमानों के स्वागत के लिए लखनऊ तैयार

इन्वेस्टर्स समिट में आने वाले अतिथियों के स्वागत के लिए लखनऊ तैयार है। समिट के दौरान आम जनता को परेशानी ना हो इसका विशेष ध्यान रखा जा रहा है।

  • इन्वेस्टर्स समिट में 5000 से ज्यादा लोगों के बैठने की व्यवस्था है।
  • यूपी सरकार ने करीब 36 होटलों में मेहमानों के ठहरने की व्‍यवस्‍था की गई है।

मेक इन इंडिया की तर्ज पर मेक इन यूपी का प्रमोशन

इस समिट में सरकार का सबसे ज्यादा जोर कृषि, फूड प्रॉसेसिंग, डेयरी, बिजली, आईटी और स्टार्टअप, पर्यटन, अक्षय ऊर्जा, फिल्म, एमएसएमई, हैंडलूम और टैक्सटाइल के क्षेत्र में होगा।

  • मेक इन इंडिया के तर्ज पर योगी सरकार की कोशिश है मेक इन यूपी को प्रमोट किया जाये।
समिट के लिए पूरी सुरक्षा व्यवस्था चाक-चौबंद

यूपी इन्वेस्टर समिट के लिए सुरक्षा व्यवस्था पूरी तरह से चाक-चौबंद है। इसके लिए 600 पुलिसकर्मी और स्नाइपर सुरक्षा तैनात की गई है। राजधानी में तैनात पुलिस अधिकारियों के अलावा बाहर की फोर्स भी मौजूद है।

  • पैरामिलिट्री फोर्स के जवानों को भी तैनात किया गया है।
  • पीएम की सुरक्षा में एसपीजी की टीम और एनएसजी कमांडो शामिल हैं।
  • इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान के पास की ऊंची इमारतों पर स्नाइपर तैनात हैं।
  • जो लगातार निगरानी कर रहे हैं।
  • बम डिटेक्शन एंड डिस्पोजल और डॉग स्क्वायड की टीमें तैनात हैं।

रिपोर्ट—संदीप सिंह वर्मा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *