Kumbh App : अब एक क्लिक पर मिलेगी प्रमुख स्नान की डिटेल

प्रयाग में होने वाले कुंभ की सारी जानकारी सिर्फ एक क्लिक से मिल सकेगी। रेलमंत्री पीयूष गोयल व सीएम योगी आदित्यनाथ ने लोकभवन में कुंभ की ऑफीशियल वेबसाइट व सोशल मीडिया एप (Kumbh App) का शुभारंभ किया।

कुंभ में आने वाले श्रद्धालुओं को सहूलियत : Kumbh App

ऑफीशियल वेबसाइट व सोशल मीडिया एप के शुभारंभ के मौके पर रेलमंत्री गोयल ने कहा कि प्रदेश सरकार जिस तन्मयता से कुंभ की तैयारियां कर रही है। उससे कुंभ में आने वाले श्रद्धालुओं को खासी सहूलियत होगी। उनकी यह यात्रा अविस्मरणीय रहेगी।

इस मौके पर पर्यटन मंत्री डा0 रीता बहुग़ुणा जोशी, नगर विकास मंत्री सुरेश खन्ना और प्राविधिक शिक्षा मंत्री आशुतोष टंडन प्रमुख रूप से मौजूद थे।

श्रद्धालुओं को मदद मिल सकेगी

रेलमंत्री पीयूष गोयल और सीएम योगी आदित्यनाथ ने लैपटॉप के जरिए कुंभ 2019 की वेबसाइट व सोशल मीडिया एप का शुभारंभ किया। इस मौके पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सोशल मीडिया के इस दौर में कुंभ 2019 की वेबसाइट व सोशल मीडिया एप से मेले में आने वाले श्रद्धालुओं को मदद मिल सकेगी। उन्होंने बताया कि वेबसाइट व एप में श्रद्धालुओं के लिये वह तमाम जानकारियां दी गई हैं, जिनकी मदद से उनकी यात्रा सरल और सुखद हो सकेगी।

वेबसाइट व सोशल मीडिया एप की जानकारी

जारी की गई वेबसाइट व सोशल मीडिया एप को यूजर्स के लिये काफी सरल ढंग से बनाई गई है। इसे 9सेक्शन में बांटा गया है। जिस यूजर को जो भी जानकारी प्राप्त करनी हो वह संबंधित सेक्शन में जाकर उसे प्राप्त कर सकता है। वेबसाइट व सोशल मीडिया एप में कुंभ में आने की योजना बना रहे श्रद्धालुओं के शहर में मूवमेंट व उनके ठहरने की जानकारी दी गई है। ट्रैवेल एंड स्टे सेक्शन में 94 होटलों के नाम व नंबर दिये गए हैं, जहां कॉल कर एडवांस में कमरे बुक कराये जा सकते हैं।

इसके अलावा फ्लाइट, ट्रेन व बस से आने वाले श्रद्धालुओं को मेला स्थल पहुंचने का भी मार्ग सुझाया गया है। वेबसाइट व एप में कुंभ में पडऩे वाले प्रमुख स्नान मकर संक्रांति, पौष पूर्णिमा, मौनी अमावस्या, वसंत पंचमी, माघी पूर्णिमा व महाशिवरात्रि के बारे में भी जानकारी दी गई है। इसके अलावा ट्रैफिक प्लान, वाहनों की पार्किंग समेत तमाम जानकारियां दी गई हैं।

शिकायत व सुझाव के लिये भी वेबसाइट

वेबसाइट व एप में कुंभ के आकर्षण की भी जानकारी विस्तृत रूप से दी गई है। इसमें कुंभ की शुरुआत में पेशवाई (तमाम अखाड़ों का आगमन), सांस्कृतिक कार्यक्रमों, टूरिस्ट वॉक, लेजर लाइट शो व नौकायन समेत तमाम खूबियों का विस्तृत विवरण दिया गया है।
वेबसाइट व एप में श्रद्धालुओं के लिये ‘क्या करें’ और ‘क्या न करें’ के बारे में भी विस्तृत ढंग से जानकारी दी गई है। शिकायत व सुझाव के लिये भी वेबसाइट व एप में सेक्शन दिया गया है। जिसमें कोई भी अपनी राय व शिकायत दर्ज करा सकता है।

मेला अधिकारी का पता व कॉन्टैक्ट नंबर भी दिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *