Ayodhya : आज दीपों से जगमगाएगी राम नगरी

अयोध्या। आज राम नगरी अयोध्या Ayodhya में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और साउथ कोरिया की फर्स्ट लेडी किम जुंग सुक की मौजूदगी में 3 लाख से अधिक दीपों से सजाया गया है। इस वर्ष होने वाले इस दीपोत्सव को पिछले वर्ष से भी बेहद खास बनाने को राज्य सरकार ने तमाम तैयारियां की हैं। अयोध्या में सरयू के तट पर जब एक साथ 3 लाख दीप प्रज्ज्वलित होंगे तो एक नया विश्व कीर्तिमान स्थापित होगा। ये दीप 40 मिनट तक अनवरत अपनी आभा बिखेर कर अयोध्या में श्रीराम के आगमन के उत्सव के उत्साह को दोगुना करने के साथ ही लिम्का वल्र्ड रिकार्ड में यह उपलब्धि भी दर्ज हो जाएगी।

Ayodhya : कई वीवीआईपी होंगे मौजूद

अयोध्या में होने वाले दीपावली महोत्सव में राज्य सरकार के मंत्रियों के अलावा कोरिया से आया 40 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल शामिल होगा। सोमवार को फर्स्ट लेडी का अमौसी एयरपोर्ट पर स्वागत किया गया। देर रात उनके सम्मान में मुख्यमंत्री आवास पर रात्रि भोज का कार्यक्रम भी रखा गया है। इस अवसर पर वह लखनऊ की चिकनकारी की कला से भी रूबरू होंगी। मंगलवार को वह सड़क मार्ग से अयोध्या प्रस्थान करेंगी जहां तमाम कार्यक्रमों में उन्हें हिस्सा लेना है। इसकी तैयारियों के लिए प्रमुख सचिव पर्यटन एवं सूचना अवनीश कुमार अवस्थी अयोध्या में दो दिन से मौजूद हैं। ध्यान रहे कि कोरिया की फर्स्ट लेडी को वहां पर रानी हो के स्मारक का शिलान्यास करना है। इसके बाद वह सीएम योगी के साथ शोभा यात्रा का अवलोकन करेंगी और हैलीकॉप्टर से आने वाली राम-सीता की जोड़ी का स्वागत करेंगी।

इस कार्यक्रम के बाद रामकथा पार्क में श्रीराम का प्रतीकात्मक राज्याभिषेक होगा। वहीं सीएम योगी इस अवसर पर अयोध्या के विकास से जुड़ी तमाम परियोजनाओं का ऐलान भी करेंगे।

क्या है कार्यक्रम

  • शाम 5:35 बजे सरयू घाट पर आरती का कार्यक्रम होगा।
  • राम की पैड़ी में दीप प्रज्जवलन के बाद वाटर शो और लेजर शो द्वारा रामकथा का प्रदर्शन होगा।
  • रामलीला के क्षेत्र में विशिष्ट योगदान देने वाले विख्यात व्यक्तियों, कलाकारों, संस्थाओं के सम्मान के अलावा इंडोनेशिया, रूस, त्रिनिडाड और टोबैगो के कलाकारों संग श्रीराम भारतीय कला केंद्र में रामलीला का प्रदर्शन होगा।
  • अयोध्या में इस अवसर पर प्रसिद्ध चित्रकार सुदर्शन पटनायक ने सरयू के तट पर रेत से भगवान श्री राम का भव्य चित्र बनाया है।
  • इसके साथ ही देश-विदेश की 15 झांकियां आकर्षण का केंद्र होंगी, जो रामायण की घटनाओं पर आधारित होंगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *