Breaking News
ऑल इंग्लैंड खिताब को जीत सकते हैं भारतीय : Gopichand
ऑल इंग्लैंड खिताब को जीत सकते हैं भारतीय : Gopichand

ऑल इंग्लैंड खिताब को जीत सकते हैं भारतीय : Gopichand

हैदराबाद। भारतीय बैडमिंटन के राष्ट्रीय कोच पुलेला गोपीचंद Gopichand ने उम्मीद जतायी की आगामी ऑल इंग्लैंड खिताब को कोई भारतीय खिलाड़ी जीत कर 18 साल से चला आ रहा सूखा खत्म करेगा। गोपीचंद इस खिताब को जीतने वाले आखिरी भारतीय खिलाड़ी है जिन्होंने यह कारनामा 2001 में किया था।

Gopichand ने कहा कि इस साल

गोपीचंद Gopichand ने कहा कि इस साल मार्च में ऑल इंग्लैंड चैंपियनशिप और अगस्त में विश्व चैंपियनशिप बड़ी प्रतियोगिताएं है। साइना नेहवाल और पीवी सिंधू ने हाल के दिनों में अच्छा प्रदर्शन किया है और इस पूर्व भारतीय खिलाड़ी ने कहा कि ये दोनों ऑल इंग्लैंड में अच्छा प्रदर्शन कर सकते हैं।

उन्होंने कहा- मुझे उम्मीद है कि इस बार कोई भारतीय खिलाड़ी ऑल इंग्लैंड टूर्नामेंट को जीतेगा। साइना नेहवाल, पीवी सिंधू और किदांबी श्रीकांत अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं। मुझे ऐसा लग रहा कि इस साल ऑल इंग्लैंड में हमारा प्रदर्शन शानदार होगा।भारतीय कोच ने कहा- साइना ने हाल ही में इंडोनेशिया ओपन का खिताब जीता है और सिंधू ने भी अच्छा प्रदर्शन किया, इसलिए मुझे लगता है कि दोनों खिलाड़ी अच्छा कर सकते है। उम्मीद है कि हमारा कोई खिलाड़ी अच्छा प्रदर्शन करेगा।
खिताब जीते हुए 18 साल हो गए और मुझे लगता है कि इस साल हार का सिलसिला टूटेगा।

गोपीचंद ने इस खिताब को 2001 में जीता था और उनसे पहले प्रकाश पादुकोण ने 1980 में इस उपलब्धि को हासिल किया था।गोपीचंद ने कहा कि देश में बैडमिंटन की बढ़ती लोकप्रियता के साथ खिलाड़ियों की संख्या काफी बढ़ी है लेकिन उस अनुपात में कोच नहीं बढ़े जिस पर ध्यान देने की जरूरत है। कोटक महिंद्रा बैंक के साथ करार के मौके पर पूर्व भारतीय खिलाड़ी ने कहा, देश में अच्छे कोचों की काफी कमी है। हमारे लिए सबसे बड़ी चुनौती बेहतरीन कोच की अगली पीढ़ी को तैयार करने की है। उन्होंने कहा, हाल के दिनों में विदेशी कोच पर निर्भरता बढ़ गई है ऐसे में यह जरूरी है कि हम घरेलू कोच तैयार करे और यह साझेदारी उस दिशा में एक बड़ा कदम है।

 

About Samar Saleel

Check Also

Captain Cool का नया हेयर स्टाइल

Captain Cool का नया हेयर स्टाइल

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी अपने स्टाइल के लिए पहचाने जाते हैं। ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *