Lakshya Sen करेंगे एशियाई जूनियर चैंपियन की अगुआई

सोमवार से कनाडा के मार्कहैम में शुरू हो रही बीडब्ल्यूएफ विश्व जूनियर बैडमिंटन चैंपियनशिप में एशियाई जूनियर चैंपियन Lakshya Sen लक्ष्य सेन भारतीय टीम की अगुआई करेंगे। इस 14 दिवसीय प्रतियोगिता की शुरुआत टीम स्पर्धा के साथ 10 नवंबर तक होगी और इसके बाद व्यक्तिगत स्पर्धाएं 11 से 18 नवंबर तक होंगी।

Lakshya Sen से भारत को काफी उम्मीदें

विश्व जूनियर रैंकिंग में चौथे नंबर पर काबिज लक्ष्य से भारत को काफी उम्मीदें हैं। टीम को आशा है कि वर्ष 2000 में मिश्रित टीम स्पर्धा शुरू होने के बाद लक्ष्य की मौजूदगी में भारत के पास अपना पहला मेडल जीतने का मौका है। गत चैंपियन चीन को शीर्ष वरीयता, इंडोनेशिया को दूसरी वरीयता, जबकि दक्षिण कोरिया और इंडोनेशिया को संयुक्त तीसरी वरीयता मिली है। भारत को पांचवीं वरीयता दी गई है और उसे ग्रुप ई में अल्जीरिया, कीनिया, श्रीलंका और फेरो आइलैंड के साथ रखा गया है और उसके पास क्वार्टर फाइनल में जगह बनाने का अच्छा मौका है। टूर्नामेंट में 41 टीमें हिस्सा ले रही हैं और इन्हें पांच-पांच टीमों के आठ ग्रुप में बांटा गया है। जूनियर विश्व कप में भारत का अब तक का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 2008 में है जब साइना नेहवाल ने एकमात्र गोल्ड मेडल जीता था।

टीम

लक्ष्य सेन, किरन जार्ज, अलाप मिश्रा, प्रियांशु राजावत, ध्रुव कपिला, जी कृष्ण प्रसाद, के मनजीत सिंह, के डिंकू सिंह, साई कृष्ण साई कुमार, पी विष्णुवर्धन गौड़, नवनीत बोक्का और अक्षन शेट्टी, मालविका बंसोड़, पी गायत्री गोपीचंद, पूर्वी भावे, साहिति बांदी, आर तनुश्री, अदिति भट, सृष्टि जुपाडी और राशि लांबे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *