The question asked by brother on the catch of Yusuf Pathan

Yusuf Pathan के कैच पर भाई ने पूछा ये सवाल

सोमवार को हुए इंडियन प्रीमियर लीग 2018 के रोमांचक मैच में सनराइज़र्स हैदराबाद ने एक बार फिर अपनी शानदार गेंदबाज़ी का प्रदर्शन कर रॉयल चैलेंजर बंगलोरे को हरा दिया। लेकिन इस मैच में Yusuf Pathan का एक कैच काफी चर्चा में आ गया है ।

Yusuf Pathan ने शानदार अंदाज में एक हाथ से लपका कैच

सोमवार को आईपीएल 2018 में हैदराबाद और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की टीमें आमने-सामने थीं। शीर्ष पर मौजूद हैदराबाद के लिए ये मुकाबला उतना महत्वपूर्ण नहीं था लेकिन बैंगलोर के लिए ये करो या मरो वाला मुकाबला था।  RCB के चाहने वालों को उम्मीद थी की बैंगलोर शायद ये बाधा पार कर जाएगी लेकिन हैदराबाद ने ऐसा होने नहीं दिया।

इस मैच में एक बड़ा मोड़ तब आया जब बैंगलोर के कप्तान कोहली शानदार अंदाज में बल्लेबाजी कर 29 गेंदों पर 39 रन बनाकर खेल रहे थे। कोहली जिस अंदाज में बल्लेबाजी कर रहे थे ऐसा लग रहा था कि हैदराबाद द्वारा दिया गया 147 रनों का लक्ष्य आसानी से हासिल कर लेंगे लेकिन शाकिब द्वारा किए जा रहे 10वें ओवर की अंतिम गेंद पर कुछ ऐसा हुआ की लोग देखते ही रह गए।

दरअसल विराट ने पुल की कोशिश की थी जिस पर वो नाकाम हो गए और गेंद थर्ड मैन दिशा में जाती नजर आई। तभी वहां शॉर्ट थर्ड मैन पर खड़े यूसुफ पठान ने शानदार अंदाज में एक हाथ से कैच लपक लिया।

आमतौर पर यूसुफ इतने अच्छे फील्डरों में शुमार नहीं होते हैं लेकिन इस एक कैच ने कई लोगों के विचार जरूर बदल दिए होंगे।विराट (39 रन) को पवेलियन का रास्ता दिखाने वाले इस कैच को लेकर सोशल मीडिया पर जमकर तारीफें होने लगीं और इन्हीं में एक थे यूसुफ के छोटे भाई व क्रिकेटर इरफान पठान जिन्होंने इस कैच पर एक मजेदार ट्वीट करके लिखा, ‘ये कैच था या आम तोड़ा है।’

यूसुफ के इस कैच पर जमकर प्रतिक्रियाएं देखने को मिलीं लेकिन हकीकत यही रही कि इस एक कैच ने बैंगलोर की आगे जाने की उम्मीदों को बड़ा झटका दिया। हैदराबाद ने अंतिम ओवर में 5 रन से जीत RCB का प्लेऑफ में जगह बनाने का रास्ता लगभग बंद कर दिया।

 

About Samar Saleel

Check Also

भारत : 85 स्वर्ण सहित कुल 368 पदक

अबुधाबी में चल रहे स्पेशल ओलम्पिक वर्ल्ड गेम्स 2019 का समापन होने के साथ हीे ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *