Modi Care से मिलेगा 5 लाख तक का इलाज जाने…

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनि‍वार को छत्तीसगढ़ से अपनी महत्‍वाकांक्षी योजना आयुष्‍मान भारत अभि‍यान अर्थात् Modi Care का उद्घाटन करते हुए शुरूआत की। उन्होंने आयुष्‍मान भारत अभि‍यान के अंतर्गत छत्‍तीसगढ़ के बीजापुर में भारत के वैलनेस सेंटर का उद्घाटन किया। आयुष्मान भारत योजना के पहले चरण को शुरू किया गया है। जिसमें प्राथमिक स्वास्थ्य से जुड़े विषयों में बड़े बदलाव लाने का प्रयास किया जाएगा। देश की हर बड़ी पंचायत में, लगभग डेढ़ लाख जगहों पर सब सेंटर और प्राइमरी हेल्थ सेंटर्स को हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर के रूप में विकसित किया जाएगा। आयुष्मान योजना मोदी सरकार की फ्लैगशि‍प योजनाओं में से एक है। जो घोषणा के समय वि‍देशी मीडि‍या में भी सुर्खियों में छाई रही। इसे मोदी केयर का नाम दिया गया है। इस महत्वाकांक्षी योजना के अंतर्गत प्रति वर्ष 10 करोड़ परि‍वारों को अच्‍छे इलाज के लिए 5-5 लाख रुपये तक का स्वास्थ्य बीमा कवर मि‍लेगा।

Modi Care का लाभ सभी को मिलेगा

हर परि‍वार को 5 लाख का कवर सरकार प्रत्‍येक परिवार को हर साल 5 लाख रुपए तक का इलाज फ्री में कराने की सुविधा मोदी केयर स्कीम के अंतर्गत दी जायेगी। इस स्‍कीम में फायदा लेने वाले परिवार में चाहे जितने भी सदस्‍य हों, सभी इसका फायदा उठा सकेंगे। इस स्‍कीम का फायदा ठीक से सभी को मिले, इसके लिए एक काउंसिल का भी गठन किया जाएगा। इसकी अध्यक्षता हैल्थ मिनिस्टर खुद करेंगे। इसके लिए अलग अलग कैटेगरी बांटी गई है।

ग्रामीण क्षेत्र के लोगों के लिए शर्तें

ग्रामीण अंचल में रहने वाले लोगों के लिए मोदी केयर का लाभ के लिए शर्तें— एक कमरे का कच्‍चा मकान, खपरैल में रहने वाली फैमली और ऐसी फैमली जिनमें 16 से 59 वर्ष के बीच की उम्र का कोई अडल्‍ट सदस्‍य न हो, महिला मुखिया वाले परिवार, जिनमें 16 से 59 वर्ष के बीच का कोई पुरुष न हो। ऐसे परिवार जिनमें विकलांग सदस्‍य हों और उसकी देखरेख करने वाला कोई अडल्‍ट सदस्‍य परिवार में न हो। एससी और एसटी के अलावा ऐसे परिवार जिनके पास जमीन न हो और उनकी आमदनी कैजुअल मजदूरी हो। जिन परिवारों के पास छत न हो और कानूनी रूप से बंधुआ मजदूरी से मुक्‍त कराए गए हों।

शहरी क्षेत्र में रहने वाले गरीबों के लिए स्कीम

शहरी क्षेत्र में रहने वालों के लिए सरकार गरीबों को स्‍कीम का फायदा देगी। गरीबों के चयन के लिए कई कैटेगरी बनाई गई हैं। कुल मिलाकर 11 कैटेगरी में शहरी गरीबों को बांटा गया है, जो इस स्‍कीम का फायदा ले सकेंगे।

5 लाख का स्वास्थ्य बीमा कवर सभी के लिए

इसके अंतर्गत प्रति परिवार सालाना 5 लाख रुपए तक का कवर मिलेगा। इसमें लगभग सभी गंभीर बीमारियों का इलाज कवर होगा। इसके अलावा कोई भी व्यक्ति (विशेष रूप से महिलाएं, बच्चे और बुजुर्ग) इलाज से वंचित न रह जाए। इसके लिए स्कीम में फैमिली साइज और उम्र पर कोई सीमा नहीं लगाई गई है। इस स्कीम में हॉस्पिटलाइजेशन से पहले और बाद के खर्च को भी शामिल किया गया है। हर बार हॉस्पिटलाइजेशन के लिए ट्रांसपोर्टेशन अलाउंस का भी उल्लेख किया गया है, जिसका भुगतान लाभार्थी को किया जाएगा। इस स्कीम के अंतर्गत पैनल में शामिल देश के किसी भी सरकारी या प्राइवेट अस्पताल में कैशलेस इलाज कराया जा सकेगा। राज्यों के सभी सरकारी अस्पताल इस स्कीम में शामिल किये जायेंगे।संबंधित अस्पतालों को बेड ऑक्यूपैंसी रेश्यो के पैरामीटर के आधार पर इसके पैनल में शामिल किया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *