गेंगासो : चौकी इंचार्ज ने टेम्पो चालक को जमकर पीटा,भर्ती

रायबरेली/लालगंज। लगातार अधिकारियों द्वारा चेताने के बावजूद भी प्रदेश की मित्र पुलिस के व्यवहार में कोई परिवर्तन नहीं आ रहा है। महकमें द्वारा लाख छिपाने के बावजूद भी अक्सर प्रदेश पुलिस का बर्बर चेहरा समाज के सामने आ ही जाता है। ऐसा ही एक मामला रायबरेली जनपद के सरेनी थाना क्षेत्र में देखने को मिला। जहां बेलगाम गेंगासो चौकी इंचार्ज जे.पी. यादव ने अपने हमराही के साथ मिलकर टेम्पो चालक को जमकर पीटा।

चौकी इंचार्ज की पिटाई से टेम्पो चालक गंभीर

पुलिस द्वारा बर्बरता पूर्वक पीट जाने से टेम्पो चालक गंभीर घायल हो गया जिसे एसपी द्वारा उपचार के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मामला का खुलासा तब हुआ जब पीड़ित न्याय की आस लेकर परिजनों के साथ पुलिस अधीक्षक सुजाता सिंह के पास पहुंचा। गेंगासो चौकी इंचार्ज की पिटाई से गंभीर घायल हुए टेम्पो चालक के मामले में दोषियों के खिलाफ अबतक की गयी कार्यवाई पर पूछे गए सवाल के जवाब में एसपी सुजाता सिंह ने जांच के बाद दोषियो के खिलाफ कार्यवाही करने की बात कही है।

साथ चलने से इंकार करने पर

जानकारी के मुताबिक श्यामलाल पुत्र भोला निवासी गेंगासो ने बताया कि 6 अक्टूबर को वह गंगागंज चौराहे पर टेम्पो से सवारी उतार रहा था तभी वहां पहुंचे चौकी इंचार्ज जे.पी. यादव ने उससे टेम्पो में लकड़ी लादकर अपने साथ चलने की बात कही। श्यामलाल द्वारा टेम्पो खराब होने के चलते उनके साथ चलने से इंकार करने पर चौकी इंचार्ज आग बबूला हो गये और उसे घसीटते हुए गेंगासों चौकी तक ले गए,जहां उसको अपने हमराही के साथ मिलकर जमकर पीटा। मारपीट की घटना में गंभीर रूप से घायल श्यामलाल चलने-फिरने को लाचार हो गया। जब उसने इसकी शिकायत पुलिस के बड़े अधिकारीयों से करने की बात कही तो दबंग चौकी इंचार्ज ने उसे जान से मारने की धमकी देते हुए अन्य किसी मामले में फंसाकर जेल भेजने तक की धमकी दे डाली।

सीओ लालगंज को सौंपी जांच

श्यामलाला के परिवार वही एकमात्र कमाने वाला था। लेकिन उसके बिस्तर पर पड़ते ही परिवार में दो जून की रोटी के लाले पड़ गए। इस बीच पीड़ित परिवार ने न्याय की आस में सरेनी थाने के कई चक्कर काटे,लेकिन थाना प्रभारी द्वारा भी कोई न्याय नहीं मिलता देख पीड़ित परिवार सोमवार को एसपी सुजाता सिंह की चौखट पर पहुंचा। एसपी ने गम्भीर रूप से घायल श्यामलाल को सबसे पहले पुलिस स्कार्ट गाड़ी से जिला अस्पताल भेजवाया जहां चिकित्सको ने उसकी गम्भीर हालत को देखते हुए भर्ती कर लिया।

श्यामलाल और उसके परिवार ने चौकी इंचार्ज जे.पी. यादव से अपनी जान का खतरा बताया है। बताते चले इसके पूर्व भी गेंगासो चौकी इंचार्ज ने हिटलरी कारनामों की वजह से विभाग की साख पर बट्टा लगा चुका है। इतना ही नहीं जे.पी. यादव वर्तमान की भाजपा सरकार के मंडल प्रभारी संतोष पाण्डेय को भी झूठे मुकदमे में फंसा चुके हैं। पुलिस अधीक्षक सुजाता सिंह ने टेम्पो चालक की बर्बरता पूर्वक पिटाई किये जाने के मामले की जांच सीओ लालगंज को सौंपी है। एसपी ने जांच रिपोर्ट आने के बाद आरोपी दरोगा के खिलाफ कार्रवाई करने की बात कही है।

रिपोर्ट-रत्नेश मिश्रा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *