बीजेपी Goa में नेतृत्व परिवर्तन आैर विलय पर करेगी विचार

गोवा (Goa) के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर (62) कल शनिवार को नई दिल्ली में ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (एम्स) में भर्ती कराए गए हैं। वह इस साल की शुरुआत से बीमार चल रहे हैं। वह इधर काफी दिनों से पैंक्रियाज (अग्नाशय) की बीमारी से परेशान हैं।

अमेरिका के अस्पताल में भर्ती रहे : Goa के मुख्यमंत्री

साल की शुरुआत में  करीब तीन महीने तक वह अमेरिका के अस्पताल में भर्ती रहे थे। सूत्रों की मानें तो अभी भी इनको आराम नहीं है। एम्स में विशेषज्ञ डाॅक्टरों की एक टीम उनके उपचार में लगी हैं। उनकी जाचें आदि की जा रही हैं। अस्वस्थ्य होने व अस्पताल में भर्ती होने की वजह से गोवा के सीएम मनोहर पर्रिकर ने अपनी अनुपस्थिति में एक वरिष्ठ कैबिनेट मंत्री को अपना कार्यभार सौंपा है।

जल्द स्वस्थ्य होने की दुआ

एेसे में एक आेर जहां गोवा सीएम के जल्द स्वस्थ्य होने की दुआ की जा रही है वहीं दूसरी आेर गोवा में नेतृत्व परिवर्तन को लेकर भी अटकलों का बाजार गर्म हो गया है। गोवा में भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ सदस्यों की बैठकों का दौर चालू हो गया है। वहीं आज भी भाजपा के राष्ट्रीय सचिव रामलाल और बीएल संतोष रविवार दोपहर तक गोवा पहुंच सकते हैं। कहा जा रहा है कि गोवा में आज राष्ट्रीय दल के नेता सहयोगी दलों गोवा फारवर्ड पार्टी (जीएफपी) और महाराष्ट्रवादी गोमांतक पार्टी (एमजीपी) के सामने बीजेपी में विलय का प्रस्ताव रख सकते हैं।

भाजपा की ताकत 14 से 17

दोनों पार्टियों के तीन-तीन विधायक हैं। इसके पीछे सदन में भाजपा की ताकत 14 से 17 करने की मंशा है। एमजीपी के अध्यक्ष दीपक धावलीकर ने  राज्य में पार्टी की 12 से 13 फीसद वोट हिस्सेदारी है। इस पार्टी को बनाने में काफी मेहनत लगी है। एेसे में भाजपा में विलय का सवाल ही पैदा नहीं होता है। यह सब महज अफवाहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *