कार्तिक मेला : तैयारियों को लेकर डीएम ने की बैठक

रायबरेली। कार्तिक पूर्णिमा मेले की तैयारियों को लेकर जिलाधिकारी संजय कुमार खत्री ने मंगलवार को विभिन्न विभागों के अधिकारियों के साथ डलमऊ तहसील परिसर के सभागार में बैठक की। जिसपर डीएम ने 24 घंटे के अंदर अधूरे पड़े कार्यो को पूरा करने के लिए सख्त निर्देश जारी किए। मंगलवार को तहसील सभागार में डीएम के पहुंचते ही लोक निर्माण विभाग, जल निगम, सिंचाई विभाग, सहित अन्य विभागों के अधिकारी अपनी बगलें झांकने लगे जब डीएम ने बारी बारी से विभागीय अधिकारियों को दी गई जिम्मेदारी के विषय में पूछना शूरू किया।

जिकाधिकारी के सवाल पूछने पर एक्सईएन

पीडब्ल्यूडी विभाग के एक अधिकारी से जब जिलाधिकारी महोदय ने उनके द्वारा बनवाये गए डलमऊ-जबलपुर मार्ग शिवपुरी के पास गंग नहर पर बने पुल पर पुनः खड्डा हो जाने का कारण पूछा गया तो बैठक में मौजूद एक्सईएन चुप रहे,इस पर डीएम ने कहा क्यों ना आपको प्रतिकूल प्रविष्टि दे दी जाए।
इसके बाद उन्होंने जल निगम के जेई से पूछा कि कितने हैंडपंप रिबोर हुए हैं तो उन्होंने बताया 12 नए और 16 पुराने हैंडपंपों को रिबोर कर दिया गया। वहीं डलमऊ बीडीओ को निर्देशित किया कि 10 सफाई कर्मचारियों पर एक सफाई नायक की तैनाती मय ड्रेस के साथ होगी। इसके बाद डीएम ने वीआईपी घाट का और छोटे मठ घाट का निरीक्षण कर अधूरी पड़ी तैयारियों को 24 घंटे के अंदर पूर्ण करने के निर्देश देते हुए कहा है कि अगर इसके बावजूद भी किसी भी विभागीय अधिकारी द्वारा लापरवाही पाई जाती है तो उसके ऊपर सख्त कार्यवाही की जाएगी।
इस मौके पर एडीएम वित्त एवं राजस्व राजेश कुमार प्रजापति, एसडीएम जीत लाल सैनी, क्षेत्राधिकारी विनीत सिंह, नगर पंचायत अध्यक्ष बृजेश दत्त गौड़,  तहसीलदार तृप्ति गुप्ता ,नायब तहसीलदार पुष्पक, कोतवाली प्रभारी लक्ष्मी कांत मिश्रा सहित आदि अधिकारी मौजूद रहे।
-: अन्य खबरें :-
नाव पर सवारिया बिठाने पर होगी कार्यवाही
22 नवंबर को दूर दराज से आने वाले लाखों की संख्या में श्रद्धालु की सुरक्षा व्यवस्था को देखते हुए डीएम संजय कुमार खत्री ने बैठक के दौरान अधिकारियों को सख्त निर्देश दिया है कि गंगा नदी के अंदर निषाद समुदाय द्वारा चलाई जा रही नाव में मेले के दौरान एक भी श्रद्धालु बैठा ना मिले अगर ऐसा कोई भी नाविक करता पाया जाए तो उसके विरुद्ध तत्काल कार्यवाही की जाए।कार्तिक पूर्णिमा मेला का मुख्य शाही स्नान 23 नवंबर को, वहीं श्रद्धालु एक दिन पूर्व ही गंगा तटों पहुंचकर अपना जमावड़ा कर लेंगे। गंगा नदी के अंदर स्थानीय निषाद समुदाय के लोग श्रद्धालुओं को नाव से घुमाने के लिए मनमानी सवारिया भर लेते हैं। जिससे मिले के दौरान बड़ी दुर्घटना हो सकती है।
जब लगी ईओ जमकर फटकार
कार्तिक पूर्णिमा मेला में नगर पंचायत की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। मेले की तैयारियों को लेकर बैठक करने आए डीएम ने जब अधिशासी अधिकारी अमित कुमार सिंह से पूछा कि कितने मोबाइल सुलभ शौचालय की व्यवस्था हुई है,और ऊंचाहार,सलोन तथा अन्य नगर पंचायतो से बात आपने की थी या नही। ईओ के द्वारा बात करने से इनकार करने पर डीएम ने तल्ख शब्दों में कहा जिसके ऊपर संपूर्ण जिम्मेदारियां है वही बेखबर है। जिलाधिकारी ने ईओ को सख्त हिदायत देते हुए चेताया कि अगर मेले के दौरान कोई भी गड़बड़ी हुई तो उसकी पूरी जिम्मेदारी आप की होगी।
रिपोर्ट-रत्नेश मिश्रा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *