महिला सिपाही ने किया आत्महत्या,सुसाइड नोट में प्रताड़ना का आरोप

बाराबंकी। हैदरगढ़ में बीती रात महिला सिपाही ने फाँसी के फंदे पर लटकर आत्महत्या कर लिया, महिला पुलिस कर्मी ने मरने से पहले एक सुसाइड नोट भी लिखा है जिसमें उसमें अपने अधिकारीयों पर उसे प्रताड़ित करने का आरोप भी लगाया है।

आत्महत्या के पीछे टार्चर मुख्य वजह

मामला थाना हैदरगढ़ का हैं,जहां सीसीटीएनएस में कार्यरत महिला सिपाही ने बीती रात अपने कमरे में फांसी का फंदा लगाकर आत्महत्या कर लिया। मृतका के कमरे से मिले सुसाइड नोट में उसने ड्यूटी के नाम पर उसे अक्सर टार्चर किये जाने की बात लिखी है। मृतका ने सुसाइड नोट में लिखा है उसे अक्सर जनपद से बहार लखनऊ ड्यूटी के लिए भेजा जाता था जिसकी वजह से उसे मजबूरन परेश्हन होकर यह कदम उठाना पड़ रहा है।

छुट्टी दे देते तो न करती आत्महत्या

2016 बैच की सिपाही मोनिका थाना हैदरगढ़ में CCTNS में कार्यरत थी।सुसाइड नोट में मोनिका ने स्पष्ट शब्दों में लिखा है कि उसके ही करते थे।ड्यूटी थाने में होने के बावजूद उसे लखनऊ ड्यूटी के लिए भेजा जाता है,जबकि उसकी तैनाती थाने पर रहनी सुनिश्चित है।आरक्षी मोनिका के सुसाइड नोट में यह भी लिखा है कि उसे छुट्टियां दे दी जाती तो वह यह कदम नहीं उठाती, जबकि उसने बीती 29 तारीख को एसएचओ परशुराम ओझा के पास छुट्टी के लिए गयी थी। एसएचओ ने डांटकर उसे सीओ के पास जाकर छुट्टी मांगने की बात कही।

एसएचओ परशुराम ओझा और आरक्षी रुखसार पर आरोप

सुसाइड नोट में एसएचओ परशुराम ओझा समेत आरक्षी रुखसार अहमद पर उसे अक्सर प्रताड़ित करने और उपस्थिति रजिस्टर में गैर हाजिर अंकित किए का आरोप लगाया है। जब इस सम्बन्ध में सएचओ परशुराम ओझा से बात करने का प्रयास किया गया तो उन्होंने ने रिपोर्टर की किसी भी बात का जवाब देने से इंकार कर दिया।

अरविन्द शुक्ला
अरविन्द शुक्ला

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *