न्यू फरक्का एक्सप्रेस हुई डिरेल,7 लोगो की मौत चार दर्जन से ज्यादा घायल

रायबरेली। हरचंदपुर में आज सुबह करीब साढ़े छह बजे मालदा टाउन से नई दिल्ली जा रही न्यू फरक्का एक्सप्रेस की नौ बोगियां इंजन समेत पटरी से उतर गयी। इस हादसे में 7 यात्रियों की मौके पर मौत हो गयी है, जबकि चार दर्जन से ज्यादा यात्री घायल हो गए। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ट्रेन हादसे की जानकारी ली और सम्बंधित अधिकारियों को जरुरी निर्देश भी दिये। मुख्यमंत्री ने रेल दुर्घटना में मृत यात्रियों के परिजनों को 2-2 लाख रुपये और घायलों को 50-50 हजार रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान करने की घोषणा की है।

न्यू फरक्का एक्सप्रेस हरचंदपुर से 50 मीटर दूर बावागंज

फरक्का एक्सप्रेस के दुर्घटनाग्रस्त होने के चलते जौनपुर में बादशाहपुर रेलवे स्टेशन से गुजरने वाली अमृतसर से हावड़ा जा रही पंजाब मेल (3006) ट्रेन का रूट डाइवर्ट कर उसे वाया सुल्तानपुर वाराणसी होते हुए हावड़ा भेजा गया। ट्रेन डाइवर्ट होने के कारण प्रतापगढ़, बादशाहपुर, जंघई, भदोही जाने वाले दैनिक यात्रियों को खासी दिक्कतों का भी सामना करना पड़ा। वहीं प्रतापगढ़ रेलवे स्टेशन पर चल रहे काम के कारण लखनऊ वाराणसी, वाराणसी, लखनऊ पैसेंजर जनता एक्सप्रेस, इंटरसिटी एक्सप्रेस 10 अक्टूबर तक पहले से निरस्त चल रही है। हादसे के चलते कई प्रमुख गाड़ियों का रुट डायवर्जट किया गया है। दुर्घटना हरचंदपुर से 50 मीटर दूर बावागंज में हुई।

मृतकों के परिजनों को 2-2 लाख और घायलों को 50-50 हजार रुपये

घटना की जानकारी होते हुए जिला व रेलवे के कई बड़े अधिकारीयों ने मौके पर पहुँच कर रहत एवं बचाव कार्यों का जायजा लिया। वहीं स्थानीय लोगों का सहयोग लेते हुए दुर्घटना स्थल पर एनडीआरएफ की टीम ने राहत और बचाव का काम शुरू कर दिया है। रलघायलों हादसे में घायल हुए लोगों पीआरवी और एम्बुलेंस वैन के जरिये लखनऊ के विभिन्न अस्पतालों में इलाज के लिए भेज दिया गया है। घायलों को अस्पताल पहुँचाने के लिए 20 एम्बुलेंस लगायी गयी हैं। सीएचसी और पीएचसी से डाक्टरों की टीम को बुला लिया गया है। मौके पर पुलिस बल भी तैनात कर दिया गया है। डीएम और एसपी मौके पर पहुंचकर स्थिति का जायज़ा लिया है। पीआरओ रेलवे दीपक कुमार ने बताया कि ट्रेन मालदा से दिल्ली आ रही थी जो रायबरेली के हरचन्दपुर के पास डिरेल हो गयी है। ट्रेन की नौ बोगियां डिरेल हुए हैं,सबसे पहले घायलों और फंसे हुए लोगो की मदद की जा रही है।फिलहाल हादसे के कारणों का खुलासा नहीं हो पाया है। मुख्यमंत्री ने रेल दुर्घटना में मृत यात्रियों के परिजनों को 2-2 लाख रुपये और घायलों को 50-50 हजार रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान करने की घोषणा की है।घटनास्थल के एटीएस की टीम को रवाना कर दिया गया है वहीं केंद्रीय रेल मंत्री ने दुर्घटना की जांच के आदेश दे दिए हैं।रेलवे प्रशासन ने लोगों की सुविधा के लिए हेल्पलाइन नंबर 05352203320 भी जारी किया है।

मृतकों का विवरण
1- अजय पुरी (45) पुत्र भुटकानंद पुरी निवासी किशनगंज,बिहार
2- दिनेश (04) पुत्र रसिकलाल मांझी निवासी खड़कपुर मुंगेर,बिहार
3- अनीता पत्नी (45) मोहन मांझी निवासी खड़कपुर मुंगेर,बिहार
4- रीता (04) पुत्री मोहन मांझी निवासी खड़कपुर मुंगेर,बिहार
5- शम्भू (20) पुत्र मोहन मांझी निवासी खड़कपुर मुंगेर,बिहार

लेकिन नहीं चेता रेलवे प्रशासन……
रायबरेली। रायबरेली के हरचन्दपुर रेलवे स्टेशन के आउटर पर न्यू फरक्का एक्सप्रेस की 6 बोगियां बुधवार तड़के पटरी से उतर गईं।इस हादसे में सात लोगों की मौत हो गई और कई यात्री जख्मी हैं। यह ट्रेन मालदा से रायबरेली होते हुए दिल्ली जा रही थी। पिछले कुछ साल के रेल हादसों पर नजर डालें तो पता चलता है कि कैसे दुर्घटनाएं होने के बाद भी रेलवे नहीं चेता,और लोगों की जान पर खतरा बना है।आइए जानते हैं,कब हुए बड़े रेल हादसे…
2018 के हादसे
6 मई 2018: हावड़ा-मुंबई मेल में तलनी और धामनगांव के बीच आग लगने से असिस्टेंट लोको पायलट की मौत हो गई और लोको पायलट घायल हो गया।
10 अक्टूबर 2018: न्यू फरक्का एक्सप्रेस रायबरेली में पटरी से उतरी 7 की मौत, कई जख्मी, 6 डिब्बे पटरी से उतरे।
2017 के हादसे
21 जनवरी 2017: कुनेरू के पास जगदलपुर-भुवनेश्वर हीराखंड एक्सप्रेस पटरी से उतरी, 40 से ज्यादा की मौत, 68 घायल।
7 मार्च, 2017: एमपी के जबरी रेलवे स्टेशन के पास भोपाल-उज्जैन पैसेंजर ट्रेन में बम फटा, 10 घायल।
30 मार्च, 2017: यूपी के महोबा में महाकौशल एक्सप्रेस पटरी से उतरी, 50 से ज्यादा लोग घायल।
15 अप्रैल 2017: मेरठ-लखनऊ राज्यरानी एक्सप्रेस के 8 डिब्बे उत्तर प्रदेश में रामपुर के पास पटरी से उतरे, 10 लोग घायल।
19 अगस्त 2017: यूपी के मुजफ्फरनगर में खतौली के पास कलिंग-उत्कल एक्सप्रेस दुर्घटनाग्रस्त, 23 लोगों की मौत, 40 घायल।
23 अगस्त 2017: पटना और अचलदा रेलवे स्टेशन के बीच कैफियत एक्सप्रेस पटरी से उतरी, 100 से ज्यादा लोग घायल।
24 नवंबर 2017: वास्को डा गामा-पटना एक्सप्रेस उत्तर प्रदेश के चित्रकूट के पास पटरी से उतर गई, 3 की मौत, 9 घायल।
24 नवंबर 2017: कोयला ले जा रही पारादीप-कटक मालगाड़ी गोरखनाथ-रधुनाथपुर के बीच पटरी से उतर गई। कोई घायल नहीं।
2016 में ट्रेन हादसे
1 मई 2016: फैजाबाद-दिल्ली एक्सप्रेस हापुड़ के पास पटरी से उतरी, बाल-बाल बचे यात्री, कोई हताहत नहीं।
6 मई 2016: चेन्नै सेंट्रल-तिरुवनंतपुरम सेंट्रल सुपरफास्ट एक्सप्रेस की एक अन्य ट्रेन से टक्कर, करीब 7 लोग घायल।
20 नवंबर, 2016: कानपुर के पुखरायां में इंदौर-राजेन्द्र नगर एक्सप्रेस पटरी से उतरी, 150 से ज्यादा लोगों की मौत, 260 घायल।
28 दिसंबर, 2016: कानपुर के पास अजमेर-सियालदाह एक्सप्रेस के 15 कोच पटरी से उतरे, 40 से ज्यादा घायल।

रिपोर्ट-दुर्गेश मिश्र/रत्नेश मिश्रा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *