राम ने सामाजिक सरोकारों के लिए किया पत्नी का त्याग : पं0 ईश्वर दास

रायबरेली/सताँव। दशरथ नन्दन श्रीराम ने एक ओर ऐसे शासक का चरित्र जिया जिसकी प्रजा दैहिक,दैविक व भौतिक सभी प्रकार के सांसारिक कष्टों से कभी पीड़ित नहीं रही और उन्ही श्रीराम ने न्याय प्रियता का ऐसा आदर्श प्रस्तुत किया,जो सामाजिक सरोकारों के लिए पत्नी सीता का त्याग कर देता है। ख्याति प्राप्त मानस मर्मग्य,श्रीराम कथावाचक जालौन के पण्डित ईश्वर दास बृह्मचारी ने मलिकमऊ कृषि वानिकी सहकारी समिति परिसर में आयोजित दो दिवसीय मानस सम्मेलन के समापन अवसर पर उपस्थित श्रोता समुदाय को बताया कि जिस समाजवाद को स्थापित करने के लिए समाज को विभाजित करने की कुचेष्टायें हो रहीं है,उसकी जड़े बहुत प्राचीन व गहरी हैं।प्रभु राम ने जिस समाजवाद का आदर्श प्रस्तुत किया,वह अब कुर्सी तक पहुंचने का संसाधन बन गया है।

श्रोता समाज भक्ति रस से सराबोर

आईएफएफडीसी द्वारा संचालित मलिकमऊ कृषि वानिकी सहकारी समिति परिसर में बुधवार को विश्व के कल्याण व जन मानस में सद्भाव बढने की लोक मंगल कामनाओं के साथ दो दिवसीय मानस सम्मेलन व विशाल भण्डारे का आयोजन किया गया। कल्याणकारी वैदिक मंत्रों के उच्चारण के साथ सैकड़ो महिला पुरुष धर्मानुरागियों के हवन पूजन के साथ आरम्भ हुये इस आध्यात्मिक व धार्मिक महत्व के आयोजन में ईश्वर दास बृह्मचारी के अलावा मानस पर शोध कर चुके डा.मान बहादुर(खेखरुआ) व कमलेश कमल(कोरिहर) ने भी सम्मेलन में अपनी रसशिक्त प्रवचन कला से श्रोता समाज को भक्ति रस से सराबोर किया।

मानस कथा का श्रवणपान 

इस कार्यक्रम में आईएफएफडीसी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एसपी सिंह के अलावा अनेक जन प्रतिनिधियों व गणमान्य लोगों ने भागीदारी किया। विधायक राकेश सिंह,डीसीबी अध्यक्ष पप्पू लोहिया,डायरेक्टर उमेश सिंह,प्रधान संघ के पूर्व अध्यक्ष उदयभान सिंह,पूर्व विधायक गजाधर सिंह आदि अनेक विशिष्ट अतिथियों ने पंडाल में बैठकर मानस कथा का श्रवण किया व आयोजित विशाल भण्डारे में प्रसाद ग्रहण किया।समापन अवसर पर समिति अध्य्क्ष राजपती सिंह,पूर्व अध्यक्ष विजय बहादुर सिंह व सचिव रिजवान अहमद ने सभी के प्रति कृतज्ञता व्यक्त किया।

मानस सम्मेलन को सफल बनाने में मलिकमऊ कृषि वानिकी सहकारी समिति के उपाध्यक्ष प्रेम शंकर तिवारी व संचालक अरविन्द पाण्डेय ने अपनी महत्वपूर्ण भागीदारी निभाई। समिति के अन्य संचालक प्रह्लाद यादव,विनोद त्रिवेदी,विष्णु रक्षा द्विवेदी,सरोज सिंह,सूर्यपाल यादव व छिट्टन पासवान ने भी अलग-अलग योगदान किया। लल्लू शर्मा,गेंदालाल गुप्ता,पिंकी टेलर,दिनेश मिश्र,रमाकान्त तिवारी,पप्पू द्विवेदी,तेज बहादुर,भगौती सिंह,रमाकान्त दाढी,विक्रम शर्मा,संजय सिंह व उदयभान सिंह आदि लोग भी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *