Sadhu ने खुद को लगाया आग, 4 निलंबित

अयोध्या में राम जन्मभूमि थाने में चोरी किये जाने के मामले को लेकर रिपोर्ट लिखाने गये एक Sadhu को भगा दिया गया था। जिसका संज्ञान लेते हुए पुलिस अधीक्षक सुधा सिंह ने थाना प्रभारी के साथ 4 पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया। दरअसल साधु राम दास पिछले तीन दिन पहले मंदिर परिसर में दर्शन करने गया था। उसी समय उसका सामान चोरी हो गया। जिसकी रिपोर्ट लिखाने साधु राम जन्मभूमि थाने पहुंचा। लेकिन पुलिस थाने में अभद्रता करते हुए उसे भगा दिया गया। जिसके बाद साधु ने खुद चोर को ढ़ढ निकाला और पुलिस के सुपुर्द किया। लेकिन पुलिस ने साधु की एक भी नहीं सुनी और भगा दिया। जिससे क्षुब्ध होकर साधु ने आत्मदाह करने के लिए खुद को आग लगा ली और उनका आधा शरीर जल गया। जिसके बाद हरकत में आई पुलिस ने कार्रवाई की।

Sadhu, हालत गंभीर जिला अस्पताल किया गया रेफर

दरअसल मध्य प्रदेश का रहने वाला साधु राम दास त्यागी अयोध्या दर्शन करने के लिए हनुमान गढ़ी आये हुए थे। लेकिन इस बीच उनका सामान चोरी हो गया। जिसकी शिकायत उन्होंने पुलिस को दी। लेकिन उनकी सुनवाई न करके उन्हें थाने से भगा दिया गया। यही नहीं वह दो दिन भूखे भी रहे। अमानवीयता का आलम यहीं खत्म नहीं हुआ। घटना के बाद पुलिस के हाथ पांव फूलने लगे और एक होमगार्ड के साथ मरणासन्न अवस्था में साधु को श्रीराम अस्पताल भेजा गया। कानूनी पचड़े में एक घंटे तक पीड़ित तड़पता रहा। बाद में उसे जिला अस्पताल रेफर किया गया।

  • डाक्टरों के अनुसार साधु 70 फीसदी से ज्यादा जल गया है।
  • हालत गम्भीर होने के चलते उसे जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया है।

अधिकारियों के सामने साधु ने दिया बयान

पुलिस अधीक्षक सुभा सिंह बघेल ने साधु से मुलाकात की। ​इस दौरान साधु ने उनसे आप बीती बताई।

  • जिसके बाद राम जन्मभूमि थाना प्रभारी के साथ थाने में तैनात 4 पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया।
  • इसके साथ पीड़ित साधु को बेहतर इलाज के इंतजाम करने के लिए कहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *