सपा-बसपा ने दिए मुख्तार-अतीक जैसे माफिया : शलभ मणि

लखनऊ। सपा व बसपा पर निशाना साधाते हुए बीजेपी के प्रदेश प्रवक्ता शलभ मणि त्रिपाठी ने कहा कि सपा-बसपा की सरकारों ने प्रदेश को मुख्तार-अतीक जैसे मफिया दिए तो वहीं योगी सरकार रिकार्ड 60 हजार करोड़ का निवेश लेकर आयी है। प्रदेश प्रवक्ता के मुताबिक महज 5 महीनों के भीतर 60 हजार करोड़ का रिकार्ड निवेश कराकर यह साबित कर दिया है कि उप्र में अब डबल इंजन की सरकार काम कर रही है। यूपी के लिए यह एक ऐतिहासिक क्षण है। इस निवेश से उप्र की विकास की दौड़ में आगे तो निकलेगा ही, यहां रोजगार के बड़े अवसर भी पैदा होंगे। प्रदेश में 60 हजार करोड़ का अभूतपूर्व निवेश कराने के लिए प्रधानमंत्री  और मुख्यमंत्री साधुवाद के पात्र हैं।

प्रदेश प्रवक्ता शलभ मणि त्रिपाठी ने

प्रदेश प्रवक्ता शलभ मणि त्रिपाठी ने कहा कि तेजी से बदलते उप्र में रिकार्ड निवेश को देखकर कुछ दल बौखलाये हुए हैं। ये वही दल है जिन्होंने आजादी के बाद सबसे ज्यादा वक्त तक देश की सत्ता पर राज किया, लेकिन एक बड़ी आबादी को शौचालय तक मुहैया नहीं करा पाये। उनके राज में अमेठी-रायबरेली की सड़के तक नहीं सुधरीं। यूपी में 14 साल तक सरकारी अराजकता के जरिए प्रदेश को विकास की बजाये विनाश की तरफ ले जाने वाले दल भी बदलते उप्र को देखकर हताश हैं और इस आयोजन की तारीफ करने की बजाय कमियां ढूढ़ने में लगे हैं। ऐसे दलों को प्रदेश की जनता 2019 में एक बार फिर जबाब देगी।

उद्योगपतियों ने खुले मंच से

प्रदेश प्रवक्ता ने कहा कि देश के जाने-माने उद्योगपतियों ने खुले मंच से जिस तरह निवेश के लिए उप्र सरकार की सिंगल विन्डो पालिसी को सराहा है तो वहीं पिछली सरकारों की यह कहकर पोल भी खोल दी है कि भ्रष्टाचार और बदतर कानून व्यवस्था के चलते लोग यूपी में कारोबार नहीं करना चाहते थे। तमाम कारोबारियों ने यह खुलासा भी किया कि किस तरह सपा-बसपा की सरकारों में कारोबार करने के लिए उनसे न सिर्फ सुविधा शुल्क मांगे गये बल्कि उन्हें बिना वजह एक दरवाजे से दूसरे दरवाजे तक दौड़ाया गया। गुण्डाराज के चलते भी लोग निवेश करने से डरते थे। इन्हीं उद्योगपतियों ने उप्र में निवेश के लिए अब बेहतर माहौल देने पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की जमकर प्रशंसा भी की।

ये खबर भी पढ़ें

निर्वाचन आयोग ने घोषित किया पंचायत चुनाव कार्यक्रम

लखनऊ। राज्य निर्वाचन आयोग ने ग्राम पंचायतों के रिक्त पदों पर चुनाव की तारीख घोषित कर दी है। सूबे के मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने पंचायत चुनावों की अधिसूचना जारी कर दी है। उत्तर प्रदेश की ग्राम पंचायतों में खाली पड़े ग्राम प्रधान, ग्राम पंचायत सदस्य और जिला पंचायत सदस्यों के पदों के लिये तारीख घोषित कर दी है।
पंचायत चुनाव में खाली पड़े पदों के लिये नामांकन 08 अगस्त को और मतदान 17 अगस्त को होगा। 20 अगस्त को पंचायत चुनाव का परिणाम आयेगा। प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने यूपी के सभी जिला निर्वाचन अधिकारियों को इस बाबत निर्देश जारी कर दिये हैं। उत्तर प्रदेश में ग्राम प्रधानों के 170 पद, ग्राम पंचायत सदस्यों के 3978 पद और जिला पंचायत सदस्यों के 11 पद खाली हैं। इन सभी पदों के लिए 17 अगस्त को वोटिंग होगी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *