पुरानी पेंशन बहाली को लेकर राज्य कर्मचारी करेंगे हड़ताल

लखनऊ। पुरानी पेंशन बहाली को लेकर 25 अक्टूबर से प्रस्तावित हड़ताल को रोकने के लिए अधिकारी कोई ऐसा फार्मूला नहीं पेश कर सके जो हड़ताल को रोक पाने के लिए कारगर साबित हो। वहीं सचिवालय के अधिकारियों और कर्मचारियों के भी हड़ताल में शामिल होने के एलान से संकट गहरा गया है। मंगलवार को सभी संगठनों की बैठक के साथ ही सचिवालय संघ के हड़ताल में शामिल होने का निर्णय लिया गया। अब शासन के पास हड़ताल रोकने का केवल एक दिन बचा है। जिसको लेकर आज सीएम योगी आदित्यनाथ से कर्मचारी नेताओं की वार्ता संभावित है।

पेंशन को लेकर हुए बैठक में नहीं बनीं बात

मंगलवार को इस बाबत हुए बैठक में मौजूद पेंशन निदेशक ने कर्मचारी नेताओं को नई पेंशन नीति में हित सुरक्षित रहने का भरोसा दिलाने का प्रयास किया, लेकिन कर्मचारी, शिक्षक व अधिकारी पुरानी पेंशन बहाली मंच के नेता इससे संतुष्ट नहीं हुए। बैठक में अधिकारियों ने इससे ज्यादा कुछ कह पाने में असमर्थता जताई तो कर्मचारी नेता मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिलने पहुंच गए, हालांकि उनकी मुलाकात नहीं हो सकी।

मंच के संयोजक हरिकिशोर तिवारी ने बताया कि बुधवार को फिर शासन के वरिष्ठ अधिकारियों से हड़ताल को लेकर वार्ता तय हुई है। मुख्यमंत्री से भी मुलाकात की संभावना है।

वहीं मंच के अध्यक्ष डॉ दिनेश चंद शर्मा ने बताया कि बातचीत के जरिए रास्ता निकालने के पूरे प्रयास किए जा रहे हैैं। वहीं दूसरी ओर प्रदेश के पूर्व मुख्य सचिव, राज्यसभा के पूर्व महासचिव और संयुक्त पेंशनर्स समन्वय समिति के संरक्षक योगेंद्र नारायण ने भी हड़ताल का समर्थन किया है।

One thought on “पुरानी पेंशन बहाली को लेकर राज्य कर्मचारी करेंगे हड़ताल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *