Efficiency upgradation training : शिक्षकों ने सीखे पढ़ाने के आसान तरीके

चाचौड़ा(मध्यप्रदेश)। राज्य शिक्षा केंद्र के निर्देशानुसार प्राथमिक शाला में हिंदी तथा गणित विषय का शिक्षण कार्य कराने वाले शिक्षकों का 6 दिवसीय Efficiency upgradation training (दक्षता उन्नयन प्रशिक्षण) बीआरसीसी भवन चाचौड़ा में चल रहा है जिसके पांच प्रशिक्षण पूर्ण हो चुके हैं। यह प्रशिक्षण 6-6 दिवस के रखे गए हैं।

Efficiency upgradation training : जॉयफुल लर्निंग के माध्यम से..

अभी हाल में दक्षता उन्नयन प्रशिक्षण में 500 शिक्षकों ने प्रशिक्षण ग्रहण किया।  दक्षता उन्नयन प्रशिक्षण में डीआरजी के रुप में शरीफ अहमद गोरी, गोपाल लोधा, ब्रज बल्लभ शुक्ला, कुलदीप आमेर, दीवान सिंह राजपूत, गिरिराज सिंह लोधा द्वारा शिक्षकों को प्रशिक्षण दिया गया। शिक्षकों को हिंदी व अंग्रेजी विषय की आधारभूत दक्षताओं का उन्नयन छात्रों में जॉयफुल लर्निंग के माध्यम से किस प्रकार अध्ययन कराया जाए इसकी जानकारी दी गई। बेसलाइन टेस्ट में छात्रों द्वारा प्राप्त अंकों के स्तर के आधार पर प्राथमिक शाला में 3 प्रकार के समूह बनाए गए हैं। प्रशिक्षण में शिक्षकों को कक्षा से संबंधित पाठ्यक्रम को सही ढंग से छात्रों को समझाने के लिए अभ्यास पुस्तिकाएं वितरित की जाएंगी।

रोचक तरीकों से दिया जा रहा प्रशिक्षण

बीआरसीसी भवन चाचौड़ा में दक्षता उन्नयन कार्यक्रम  28 अगस्त तक चलाया जा रहा है जिसमें प्रशिक्षण ऑडियो वीडियो व अन्य रोचक तरीके से शिक्षकों को दिया जा रहा है। बीआरसी दशरथ सिंह मीना द्वारा शिक्षण में शिक्षकों को इस बात पर विशेष जोर दिया जा रहा है कि जो बच्चा जिस कक्षा का छात्र है, उसको उस कक्षा तक का ज्ञान अच्छी तरह होना चाहिए। बीआरसीसी द्वारा प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे शिक्षकों की संख्या 500 बताई गई है और साथ ही यह भी बताया गया कि यदि प्रत्येक स्कूल में  दक्षता उन्नयन के अनुरूप शिक्षकों द्वारा स्कूलों में शिक्षा नहीं दी गई तो उन शिक्षकों के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी।

विष्णु शाक्यवार
विष्णु शाक्यवार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *