River Gomti : लोक भारती का गोमती संरक्षण सप्ताह

लखनऊ। लोक भारती के River Gomti के संरक्षण के लिए गोमती संरक्षण सप्ताह के चौथे दिन नदी और नारी विषयक महिला समागम और कचरा प्रबंधन पर खाटू श्याम मंदिर पर कार्यक्रम आयोजित हुआ कार्यक्रम की मुख्य अतिथि लखनऊ की महापौर श्रीमती संयुक्ता भाटिया और प्रोफेसर लखनऊ विश्वविद्यालय शीला मिश्रा थी।

River Gomti : नारी जागेगी तो पर्यावरण बचेगा

लोक भारती के River Gomti के संरक्षण के लिए गोमती संरक्षण सप्ताह के चौथे दिन हुए खाटू श्याम मंदिर पर कार्यक्रम में भवन बाल भौनवल पब्लिक स्कूल के बच्चों द्वारा गोमा बचाओ पर विभिन्न प्रस्तुतियां भी दी।

  • महापौर संयुक्ता भाटिया ने नदी को साफ सुथरा रखने का अनुरोध किया तथा पर्यावरण बचाने हेतु पेड़ लगाने की अपील की उन्होंने कहा नारी जागेगी तो पर्यावरण अवश्य बचेगा।
  • प्रोफेसर डॉक्टर शीला मिश्रा ने भी गोमती को स्वच्छ और साफ रखने के लिए महिलाओं को आगे आने को कहा।
पूजन सामग्री का शुष्क विसर्जन करें : डॉ भारती पांडे

नदी और नारी कार्यक्रम की प्रभारी डॉ भारती पांडे ने कहा कि नारी का जागरूक होना जरूरी है, वही सही मायने में स्वच्छता की शिक्षा दे सकती है। उन्होंने कहा कि पूजा के फूल, पुरानी खंडित मूर्तियां, हवन की राख आदि का शुष्क विसर्जन किया जाए, इनको नदी में प्रवाहित ना करें। गोमती अविरल होगी यह समाज जागरूक हो इस में नारी की महती भूमिका है।

  • भौनवाल पब्लिक स्कूल के बच्चों द्वारा लघु नाटिका नदी बचाव में जल बचाएं पर शानदार प्रस्तुति दी गई।
  • स्वाती निगम, रंजना दीवान, रेनू श्रीवास्तव, कृष्णानंद राय द्वारा गीत के माध्यम से नदी बचाओ पर्यावरण बचाओ का संदेश दिया गया।
  • चंद्र भूषण तिवारी द्वारा पेड़ बचाओ पर्यावरण बचाओ पर गीत प्रस्तुत किया गया।
  • कार्यक्रम में भारी संख्या में महिलाओं ने भाग लिया।

कचरा प्रबंधन के बारे में मेवालाल, अजय प्रकाश, डॉक्टर पार्थ प्रीतम ने विस्तार से बताया तथा उसका प्रदर्शन भी किया और अपील की कि घरेलू कचरा सड़क पर नहीं फेकें। इस कार्यक्रम के संयोजक मंडल में रत्ना प्रकाश, मोनिका भौनवाल, सीमा मोदी, डॉ दीपा द्विवेदी, कल्पना प्रीतम आदि उपस्थित रहे।
इस कार्यक्रम में विशेष रूप से लोक भारती के अखिल भारतीय संगठन मंत्री बृजेंद्र पाल सिंह, संपर्क प्रमुख श्रीकृष्ण चौधरी और गोपाल उपाध्याय तथा गोमती संरक्षण अभियान के संयोजक शेखर त्रिपाठी प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *