Breaking News

टीजीटी समेत पीजीटी में अभी भी खाली हैं 26 हजार पद, यहां देखें खबर

दिल्ली सरकार के 1031 स्कूलों में नर्सरी से लेकर कक्षा 12 तक के लिए 61281 पद स्वीकृत हैं। जिनमें नर्सरी, प्राइमरी असिस्टेंट टीचर, टीजीटी, पीजीटी, शारीरिक शिक्षा, कला, कप्यूटर, गृह विज्ञान अध्यापक यूजिक और लाइब्रेरियन आदि शामिल हैं। लेकिन नर्सरी से लेकर पीजीटी तक कोई भी ऐसा पद नहीं है जहां पूरी रिक्तियां भरी गई हों। फिलहाल, स्वीकृत पदों पर 35,257 अध्यापक नियमित काम कर रहे हैं बाकी 26,024 पद खाली हैं।

ये जानकारी दिल्ली अल्पसंख्यक आयोग के सलाहकार सदस्य मंजर अली खान द्वारा लगाई गई एक आरटीआई से सामने आई है। दिल्ली सरकार के स्कूलों में पीजीटी के कुल 15,137 पद स्वीकृत हैं जिन पर 10,451 अध्यापकों की ही नियुक्ति रेगुलर है। 4686 पीजीटी पद खाली हैं। इसी तरह टीजीटी के कुल स्वीकृत पद 33,397 हैं जिनमें 15,702 पद खाली हैं।

आरटीआई के अनुसार दिल्ली सरकार के स्कूलों में असि.टीचर नर्सरी की 465, असि. टीचर प्राइमरी की 2034, शारीरिक शिक्षा अध्यापक की 1411, कला अध्यापक की 439, क प्यूटर साइंस की 572, गृह विज्ञान की 399, यूजिक अध्यापक की 114 पोस्ट खाली पड़ी हुई हैं। दिल्ली सरकार के स्कूलों में नर्सरी से लेकर 12वीं कक्षा तक 19371 अतिथि शिक्षक फिलहाल कार्य कर रहे हैं। दिल्ली सरकार के स्कूलों में फिलहाल 6653 पद रिक्त हैं जिन पर कोई नियुक्ति नहीं हुई है।

Loading...

आरटीआई लगाने वाले मंजर अली खान ने दिल्ली सरकार से आग्रह किया है कि खाली पदों पर नियुक्तियां जल्द से जल्द की जाएं। जिनमें टीजीटी पुरुष अ यर्थी के लिए आवेदन की आयु अब तक 32 साल थी जिसे घटाकर 30 किया जा रहा है उसे 32 वर्ष ही रहने दिया जाए। महिला उम्मीदवारों को 10 साल की छूट का प्रावधान बरकार रखा जाए। अतिथि शिक्षकों की सैलरी बढ़ाई जाए और डीएसएसएसबी द्वारा निकाली गई वैंकेसिंयों में रिजर्वेशन कोटे में एससी, एसटी और ओबीसी कोटेे को उनका पूरा हक दिया जाए।

आरटीआई में निदेशालय से पूछे गए खाली पड़े पदों को भरने के सवाल पर निदेशालय ने कहा कि 9981 पदों को भरने के लिए डीएसएसएसबी को कहा गया था। लेकिन अब तक डीएसएसएसबी ने कोई वैकेंसी नहीं निकाली है।

आरटीआई में निदेशालय से पूछे गए खाली पड़े पदों को भरने के सवाल पर निदेशालय ने कहा कि 9981 पदों को भरने के लिए डीएसएसएसबी को कहा गया था। लेकिन अब तक डीएसएसएसबी ने कोई वैकेंसी नहीं निकाली है।

Loading...

About Aditya Jaiswal

Check Also

देश के 105 शहरों में वायु प्रदूषण की नापजोख के किए गए ये बंदोवस्त

जिस प्रदूषण को लेकर दिल्ली से लेकर लखनऊ समेत समूचे उत्तर हिंदुस्तान में अफरा-तफरी का ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *