Breaking News

रणजी ट्रॉफी में खिलाने को लेकर दो खिलाड़ियों से धोखाधड़ी, दो लोग गिरफ्तार

भारतीय क्रिकेट टीम में खेलने का सपना देश के हर एक क्रिकेट खिलाड़ी का होता है। वैसे टीम इंडिया में शामिल होने के लिए किसी खिलाड़ी को रणजी ट्रॉफी या IPL जैसे बड़े घरेलू टूर्नामेंटों में अच्छा प्रदर्शन करने की जरूरत होती है। कोई खिलाड़ी सिर्फ अपनी प्रतिभा या मेहनत के दम पर टीम इंडिया में जगह बना सकता है। लेकिन रणजी ट्रॉफी और अन्य टूर्नामेंटों में चयन के नाम पर युवा क्रिकेटरों को कुछ लोग झांसा भी दे देते हैं। इस मामले में युवा क्रिकेटरों से धोखाधड़ी के मामले में दो कोचों को गिरफ्तार किया गया है।

पुलिस ने बताया कि पीतमपुरा में फ्रेंड्स एकेडमी में आरोपी कोच रवि दलाल और उसके साथी हरीश जमाल, जो कि एक स्कूल में पार्ट टाइम कोच है, इन्हें गिरफ्तार किया है। अधिकारी ने कहा कि बीसीसीआई में इंटीग्रिटी मैनेजर अंशुमान उपाध्याय ने दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच से शिकायत की थी कि कुछ लोग युवा खिलाड़ियों को रणजी टीम में जगह दिलाने के नाम पर उनके साथ ठगी कर रहे हैं।

क्राइम ब्रांच को जांच के दौरान पाया कि दो युवा खिलाड़ी कनिष्क गौर और शिवम के साथ धोखाधड़ी की गई है। इसा सिलसिले में क्राइम ब्रांच ने पीतमपुरा में फ्रेंड्स एकेडमी में आरोपी कोच रवि दलाल और उसके साथी हरीश जमाल को गिरफ्तार किया है।

चौकाने वाली बात ये है कि रवि दलाल ने कनिष्क गौर से 11 लाख रुपये लेकर उसे गेस्ट प्लेयर के तौर पर खिलाने का वादा किया और फर्जी जन्म प्रमाणपत्र पर दूसरे राज्य से अंडर 19 में स्थानीय खिलाड़ी के रूप में केवल दो मैच खेलने का मौका दिया। इसके अलावा ये भी पाया गया कि शिवम से भी 4 लाख रुपये वसूले गए हैं। दलाल ने यह पैसा गौर से लेकर जमाल को दे दिया था।

About Aditya Jaiswal

Check Also

India vs England: टेस्ट मैच में भारतीय टीम को मिली हार पर हैरान हुए अजीत आगरकर, कही ये बड़ी बात…

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें भारत और इंग्लैंड के बीच पुनर्निर्धारित पांचवां टेस्ट ...