निर्माता-निर्देशक कराते थे घंटो इंतजारः गोविन्दा

गोविंदा को अपने शुरुआती दिनों में निर्माता निर्देशक से मिलने के लिए घंटो इंतजार करना पड़ता था।
गोविंदा बताते हैं कि उन्होंने इससे बचने के लिए तरकीब निकाली और उनके नौकरों से दोस्ती कर ली। ये नौकर उनके अभिनय की वीडियो कैसेट निमार्ताओं निर्देशक तक पहुँचाते और बिना इंतजार किये वो निर्माता निर्देशक से मिल लेते थे।
गोविंदा ने अपने समय में एक महीने के अंतराल में 49 फिल्में भी साइन की थीं लेकिन वो कहते हैं कि काम की कमी की वजह से पत्नी के आग्रह पर नकारात्मक भूमिकाएं भी निभाई।
अपने इस फैसले को सही ठहराते हुए गोविंदा ने बताया कि मुझे मनचाहा काम नहीं मिल रहा था और जो मिल रहा था उससे मैं खुश नहीं था तब पत्नी ने कहा की इससे पहले बच्चों के लिए संघर्ष शुरू हो जाए जो काम मिल रहा है वो कर लीजिये।

About Samar Saleel

Check Also

लैक्मे इंडिया फैशन में रैंप वाक पर अपना जलवा बिखेरती नज़र आई अनन्या पांडे

इस बात से मना नहीं किया जा सकता है कि भारतीय फैशन बॉलीवुड के ईद-गिर्द घूमता है। फैशन ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *