बाहुबली के खिलाफ बीजेपी-सपा का नया दांव!

मऊ.विधानसभा चुनाव के दौरान पूर्वांचल की राजनीति में मची उथल-पुथल थमने का नाम नहीं ले रही है। इस उथल पुथल की धुरी अंसारी परिवार बना हुआ है। समाजवादी पार्टी से हुई अनबन के बाद पूर्वाचल में अखिलेश यादव को ललकारने वाले बाहुबली मुख्तार अंसारी का परिवार एक बार फिर चर्चा में है।मऊ सदर से भाजपा और मुहम्मदाबाद सीट से सपा प्रत्याशी के नामांकन रद्द होने को पूर्वांचल के सियासी हलके में अंसारी परिवार के खिलाफ साजिश के तौर पर भी देखा जा रहा है। सपा और भाजपा प्रत्याशी का नामांकन तकनीकी आधार पर ख़ारिज किया गया। सियासी चर्चाओं में ये सवाल खड़ा हो गया है कि अंसारी परिवार के खिलाफ जिस दमदार प्रत्याशी को चार्टेड प्लेन से सिम्बल भेजा गया, उससे नामांकन प्रक्रिया के दौरान छोटी सी चूक कैसे हुई ? क्या अंसारी परिवार के खिलाफ दोनों ही पार्टियों में कहीं मिलीभगत तो नहीं है ?हालांकि दोनों सीटों पर गठबंधन के तहत उम्मीदवार पहले से मैदान में हैं।

चार्टेड प्लेन से भेजा गया सिंबल

मुहम्मदाबाद से बसपा प्रत्याशी सिबगतुल्लाह अंसारी के खिलाफ सपा ने अंतिम समय में हैदर अली टाइगर को प्रत्याशी बनाया। टाइगर के नामांकन के लिए पार्टी ने चार्टेड प्लेन से सिंबल भेजा। सपा प्रत्याशी के लिए चार्टेड प्लेन से आये सिम्बल के बाद ये चर्चा शुरू हुई कि सपा अंसारी परिवार के खिलाफ दमदारी से चुनाव लड़ेगी। सपा और कौमी एकता दल के बीच गठबंधन की बात के दौरान अखिलेश यादव के मुख्तार अंसारी विरोधी बयानों ने इस चर्चा को बल दिया था।बहरहाल इतने ताम झाम के बाद पर्चा ख़ारिज हो जाने को पूर्वाचल के राजनैतिक विश्लेषक गले के नीचे नहीं उतार पा रहे हैं।

About Samar Saleel

Check Also

जींस पहनकर स्कूल पहुँचने पर शिक्षक को मिला इतना बड़ा दंड, सुनते ही उड़ जाएंगे आपके होश

 आपने इस तरह की खबरें कई बार पढ़ी होगी कि सरकारी दफ्तरों में ड्रेस कोड ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *