छात्रा की मौत पर प्रदर्शन , पुलिस ने भांजी लाठियां

लखनऊ- राजधानी के सरोजनीनगर थानाक्षेत्र मे कॉलेज जा रही फार्मेसी रिसर्च की छात्रा को ट्रैक्टर ने जोरदार टक्कर मार दी। टक्कर लगते ही छात्रा सड़क पर गिर गई और गंभीर रूप से घायल हो गई। मौके पर मौजूद साथी छात्रों ने उसे गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया।जहां से ट्रॉमा रेफ़र कर दिया जहां इलाज के दौरान छात्रा की मौत हो गई। मौत की सूचना मिलते ही छात्रों ने कॉलेज के सामने सड़क पर मुआवजे प्रदर्शन शुरू कर दिया। छात्र मुआवजे और कॉलेज के सामने स्पीड ब्रेकर बनवाने की मांग को लेकर शांतिपूर्व प्रदर्शन कर रहे थे। तभी मौके पर पहुँची सरोजनीनगर पुलिस ने छात्रों पर लाठीचार्ज कर दिया। छात्रों ने आरोप लगाया है कि थाना प्रभारी सुधाकर पांडेय ने उनसे बात करने के बजाय लाठीचार्ज करवा दिया। लाठीचार्ज में कई छात्र घायल हो गए हैं। पुलिस के इस रवैये से छात्र और कॉलेज प्रशासन बेहद नाराज है।

छात्रा की स्कूटी मुड़ते ही ट्रैक्टर ने मारी टक्कर

प्राप्त जानकारी के अनुसार सरोजनीनगर थाना क्षेत्र के बिजनौर में आर्यकुल ग्रुप ऑफ कॉलेज फार्मेसी एंड रिसर्च स्थित है। कॉलेज में मंगलवार सुबह फार्मेसी रिसर्च प्रथम वर्ष की छात्रा शिल्पी रावत (18) पढ़ने के लिए जा रही थी। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक सुबह करीब 9 बजे छात्रा जैसे ही कॉलेज के लिए अपनी स्कूटी लेकर मुड़ी उसी समय तेज रफ़्तार से आ रहे ट्रैक्टर-ट्रॉली ने उसे टक्कर मार दी। टक्कर लगते ही छात्रा सड़क पर गिरकर घायल हो गई। यह देख छात्रों ने पुलिस को सूचना दी। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने उसे ट्रॉमा सेंटर में भर्ती कराया जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। छात्रा ने अगर हेलमेट लगाया होता तो उसकी जान बच सकती थी। पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

मौत की खबर से घर में कोहराम

छात्रा की मौत की खबर मिलते ही उसके घर में कोहराम मच गया। साथी की मौत पर सहयोगी छात्रों ने कॉलेज के सामने सकड़ जाम कर दी और प्रदर्शन करने लगे। इसकी सूचना पुलिस को हुई तो भारी संख्या में पुलिस मौके पर पहुंच गई। छात्रों ने बताया कि वह छात्रा को मुआवजा देने, ट्रैक्टर चालक पर कार्रवाई करने, कॉलेज के सामने सड़क पर स्पीड ब्रेकर बनवाये जाने की मांग को लेकर शांति पूर्वक प्रदर्शन कर रहे थे। छात्रों का आरोप है कि थाना प्रभारी सरोजनीनगर सुधाकर पांडेय ने उनकी बात सुने बगैर लाठीचार्ज करवा दिया। इस लाठीचार्ज से वहां भगदड़ मच गई और कई छात्र चोटिल हो गए। घंटों चले प्रदर्शन के बाद पुलिस ने स्थिति को काबू में किया। थाना प्रभारी ने बताया की छात्रों ने सड़क जाम कर रखी थी वह उग्र प्रदर्शन कर रहे थे। इसलिए स्थिति को काबू में करने और उन्हें वहां से हटाने के लिए हल्का बल प्रयोग किया गया।

About Samar Saleel

Check Also

रायबरेली के लिए जो सोनिया गांधी नहीं कर पाईं, जाते-जाते उसे पूरा कर गए अरुण जेटली

पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली के पार्थिव शरीर को रविवार को पूरे राजकीय सम्मान के ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *