प्रेमिका नही मिल सकी तो, मौत को गले लगाया

बस्ती.जहाँ 27 फरवरी को लोग विधानसभा के चुनावी रंग में सराबोर थे। वहीं दूसरी तरफ कोई अपनी ज़िंदगी के पन्नों को काली स्याही से लिख कर उसे हमेशा हमेशा के लिए खत्म करने का प्लान बना रहा था।

बस्ती के गांधी नगर इलाके में स्थित नीलम होजरी के प्रोप्राइटर राहुल अरोड़ा(32) पुत्र स्वर्गीय अशोक अरोड़ा ने दोपहर तक़रीबन 2 बजे फाँसी लगा कर आत्महत्या कर ली। घटना के समय वो घर में अकेले थे। उनके परिवार में उनकी पत्नी के अलावा 3 साल की बेटी व मां हैं।  घटना वाले दिन गर्भवती पत्नी ऋचा अरोड़ा उनकी माता जी को लेकर इलाज़ के लिए लखनऊ गयी हुई थी। कई बार फ़ोन करने के बावजूद भी जब बूढ़ी मां की बात बेटे से नही हो सकी तो उनकी बैचैनी बढ़ने लगी,तब उन्होंने अपने पडोसी को फ़ोन करके बेटे से बात करवाने को कहा। पडोसी ने कई बार दरवाजे पर दस्तक दी,लेकिन अंदर से कोई उत्तर नही मिला। कोई अनहोनी होने की आशंका से दीवार तोड़कर किसी तरह से पड़ोसी घर में घुसा तो अंदर का नजारा दिक्ज कर पड़ोसी के होश उड़ गए। घर के अंदर एक कमरे में राहुल की लाश पंखे से झूल रही थी। आनन फानन में पुलिस को सूचना दी गयी। जिसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने लाश को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया। मौके पर मिले सुसाइड नोट में प्रेम प्रसंग का जिक्र है,पुलिस उसी दिशा में जाँच करने में जुटी हुई है।

मृतक के आखिरी खत के मजनून के मुताबिक विवाहित होने के कारण उसका अपनी प्रेमिका से मिल पाना संभव नही दिख रहा था,जिसके चलते उसने मौत को गले लगाने का रास्ता चुना। घटना के बाद से राहुल का परिवार सदमे में है।

रिपोर्ट-डॉ सिम्मी भाटिया

About Samar Saleel

Check Also

जींस पहनकर स्कूल पहुँचने पर शिक्षक को मिला इतना बड़ा दंड, सुनते ही उड़ जाएंगे आपके होश

 आपने इस तरह की खबरें कई बार पढ़ी होगी कि सरकारी दफ्तरों में ड्रेस कोड ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *