2020 तक Gomti होगी सुजला-सजला: लोक भारती

लखनऊ। लोक भारती ने 2020 तक Gomti को सुजला-सजला बनाने के संकल्प का पुर्नस्मरण किया। ​जिसके लिए लोक भारती कार्यालय हजरतगंज में एक बैठक का आयोजन करते हुए महत्वपूर्ण निर्णय लिये गये। बैठक में वर्ष 2010 में गोमती संरक्षण अभियान को फिर से शुरू करने के लिए योजना बनाई गई। वर्ष 2020 से पूर्व गोमती में पर्याप्त जल रहे। इसके लिए उसे शारदा से जल देने की योजना पर विचार किया गया। इसके साथ दीर्घकालिक परिणाम के लिए भूजल स्तर बढ़ाने के लिए जोे कार्य आवश्यक हों उसके लिए लोकभारती कृत संकल्पित है।

सिंचाई मंत्री धर्मपाल सिंह से वार्ता करते लोक भारती के अखिल भारतीय संगठन मंत्री बृजेंद्र पाल सिंह, गो-आधारित प्राकृतिक खेती के संयोजक गोपाल उपाध्याय व संपर्क प्रमुख श्रीकृष्ण चौधरी

पीलीभीत से Gomti संरक्षण अभियान शुरू

लोक भारती ने गोमती संरक्षण अभियान के लिए बैठक में उत्तर प्रदेश के पीलीभीत जिले से शुरू करने का निर्णय लिया। जिसके लिए 29 जनवरी 2018 को लोक भारती प्रतिनिधि मंडल ने सिंचाई मंत्री से मुलाकात की थी। लोक भारती के सम्पर्क प्रमुख श्रीकृष्ण चौधरी ने बताया कि गोमती संरक्षण के लिए विभिन्न योजनाएं बनायीं गयी हैं। उन्होंने बताया कि गोमती तटवर्ती क्षेत्र में 7 मार्च से एक माह तक गोमती संरक्षण में सामाजिक सहभागिता के लिए जागरूकता अभियान प्रारम्भ शुरू किया जा रहा है। जिसमें पंजाब की 160 किमी की कालीबेई नदी को पुनजीर्वित करने वाले सन्त बलवीर सिंह सींचेवाल उपस्थिति रहेंगे। सन्त सींचेवाल के कार्यक्रम पीलीभीत, शाहजहांपुर और लखीमपुर जिले में गोमती के किनारे स्थित गुरूद्वारों में विशेष रूप से आयोजित होंगे।

गोमती घाटों का हलमा कार्यक्रम पर होगी सफाई

श्रीकृष्ण चौधरी ने कहा कि लखनऊ में 28 अप्रैल को जनसहभागिता के लिए कुड़ियाघाट के आगे गोमती तट पर स्थित गुलेला शवदाह घाट पर ‘हलमा कार्यक्रम’ का आयोजन किया जायेगा। जिसमें लोगों द्वारा श्रमदान करके घाट की सफाई, शवदाह सम्बन्धी अपशिष्ट के विसर्जन हेतु कुण्ड का निर्माण तथा नदी क्षेत्र के अतिक्रमण मुक्ति के लिए कार्य किया जायेगा।

महन्त रामसेवक दास के नेतृत्व में होंगे सामाजिक कार्य

उन्होंने बताया कि 29 अप्रैल, 2018 को लखनऊ गोमती तट पर स्थित रामानन्द आश्रम में महन्त रामसेवक दास के नेतृत्व में गोमती तटवर्ती आस्था केन्द्रों के प्रमुख, कालेजों के प्रमुख, विभिन्न सामाजिक संगठनों के प्रमुख तथा गोमती मित्र मण्डलों के कार्यकर्ताओं की ‘गोमती संवाद’ कार्यशाला का आयोजन किया जायेगा। मई-जून, 2018 में गोमती जलग्रहण क्षेत्र के तालाबों की खुदाई, सफाई तथा गोमती की सहायाक छोटी नदियों व जल बहाव क्षेत्र में चेकडैम बनाने एवं वर्षा जल संचयन हेतु ट्रंच खुदाई का कार्य सामाजिक सहभाग से किया जायेगा। जून माह में गौ आधारित प्राकृतिक खेती के लिए गोमती तटवर्ती 10 स्थानों पर किसानों के प्रशिक्षण शिविरों के आयोजन होंगे। जुलाई-अगस्त माह में गोमती हरित पट्टी विकास के लिए एक लाख वृक्षारोपण किया जायेगा। जिसमें ग्राम सभाओं एवं निकटवर्ती कालेजों का सहयोग लिया जायेगा।

बैठक में कई संगठन के साथ अन्य लोग रहे शामिल

बैठक लोक भारती के संगठन मंत्री ब्रजेन्द्र पाल सिंह के नेतृत्व में प्रारम्भ हुई। जिसमें लोक भारती अध्यक्ष विश्वनाथ खेमका, वरिष्ठ पुलिस अधिकारी एवं जल गुरू महेन्द्र मोदी, एस.आर. ग्रुप के प्रबन्धक पवन कुमार सिंह चैहान, गोमती अलख यात्रा के प्रमुख कैप्टन सुभाष ओझा एडवोकेट, गौ आधारित प्राकृतिक खेती के संयोजक गोपाल उपाध्याय, गोमती संरक्षण अभियान के संयोजक शेखर त्रिपाठी, गोमती समग्र के प्रभारी विन्ध्यवासिनी कुमार तथा समिति के अन्य सदस्यों में राजेश सड़ाना, इन्जीनियर सतीश श्रीवास्तव, धर्मेंन्द्र सिंह, जितेन्द्र सिंह, मदन भार्गव, मीडिया प्रमुख डा0 नवीन सक्सेना, गोमती बाबा महन्त रामसेवक दास, सुनील चैबे, लोक भारती के सम्पर्क प्रमुख श्रीकृष्ण चौधरी सहित दो दर्जन से अधिक प्रमुख कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

About Samar Saleel

Check Also

दलित छात्र-छात्राओं का हो रहा है उत्पीड़न : चंद्रशेखर

लखनऊ। शिक्षण संस्थाओं में बहुजन छात्र-छात्राओं को कथित जातिवादी मानसिकता और उत्पीड़न से बचाने के ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *