Rahul Gandhi नहीं जानते NCC ‘C’ सर्टिफिकेट ,हो गए वायरल

Rahul Gandhi अक्सर किसी न किसी बात को लेकर चर्चा में आ ही जाते है। हालांक‍ि इस बार अपनी एक चूक की वजह से सुर्खि‍यों में हैं। खबरों की मानें तो राहुल गांधी इन दिनों कर्नाटक दौरे पर है। जिसमे एनसीसी की एक छात्रा ने NCC को लेकर एक सवाल पूछा। राहुल गांधी उसके सवाल का जवाब नहीं दे पाए हैं।

Rahul Gandhi सोशल मीड‍िया पर पुनः चर्चित

खबरों के मुताबि‍क कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी विधानसभा चुनाव से पहले दो दिनों के कर्नाटक दौरे पर हैं। ऐसे में मैसूर के महारानी आर्ट्स कॉलेज में राहुल गांधी यहां के स्‍टूडेंट से रूबरू हो रहे थे। इस दौरान एक एनसीसी छात्रा ने उनसे सवाल पूछा क‍ि आख‍िर एनसीसी ‘सी’ सर्टिफिकेट एग्‍जाम पास करने वाले स्‍टूडेंट को क्या लाभ म‍िलेगा। जवाब में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा क‍ि एनसीसी और सी सर्टिफिकेट के बारे में उन्‍हें खास जानकारी नहीं है। इसलि‍ए वह नहीं बता पाएंगे। इस सवाल का जवाब न दे पाने से राहुल गांधी सोशल मीड‍िया पर चर्चा में बने हैं।

क्या है एनसीसी सी सर्टिफिकेट
  • राष्ट्रीय कैडेट कोर यानी एनसीसी भारतीय सैन्य कैडेट कोर है।
  • भारत में एनसीसी कैडेट की संख्या करीब 12 से 15 लाख तक है।
  • एनसीसी में स्‍टूडेंट स्‍कूल टाइम से ही शाम‍िल हो सकते हैं।
  • एनसीसी की लिखित और परेड परीक्षा पास करने पर तीन तरह से सर्टि‍फ‍िकेट द‍िए जाते हैं, जिनमें ए, बी और सी सर्टिफिकेट शामि‍ल है।
  • ए और बी की तुलना में सी सर्टिफिकेट की परीक्षा को पास करना थोड़ा कठ‍िन होता है।
सेना के अलावा नौकर‍ियों में छूट‍ म‍िलती है

A) ए सर्टिफिकेट से छात्र सामान्‍य पद पर तैनात हो पाते हैं। वे बस सीएसएम यानी क‍ि कंपनी सार्जेंट मेजर तक जा सकते हैं।

B) बी सर्टिफिकेट पाने वाले स्‍टूडेंट से जेयूओ के पद पर तैनाती पा सकते हैं।

C) सी सर्टिफिकेट पाने वाले स्‍टूडेंट को सीएसयूओ यानी क‍ि कंपनी सीनियर अंडर ऑफिसर तक के पद पर जाने का मौका मि‍लता है। इतना ही नहीं सेना व अर्धसैनिक बलों के अलावा सरकारी नौकरियों में भी छूट म‍िलती है।

About Samar Saleel

Check Also

आरटीआइ कार्यकर्ता से आंकड़ा देने के बदले मांगे 20 लाख रूपये

तेलंगाना। आरटीआइ से जुड़ा एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है। एक आरटीआइ कार्यकर्ता ने ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *