CBSE पेपर लीक मामले में छापेमारी से आरोपियों पर गिरी गाज

CBSE बोर्ड के इकोनॉमिक्स और मैथ्स के पेपर लीक मामले में क्राइम ब्रांच दिल्ली-एनसीआर में ताबड़तोड़ छापेमारी कर रही है। जिसमें आरोपियों की तलाश के लिए पुलिस का सख्त रूख दिखाई पड़ा। पेपर लीक हो जाने के कुछ घंटे के अंदर ही क्राइम ब्रांच ने दिल्ली-एनसीआर में 10 स्थानों पर छापेमारी की गई। सूत्रों के अनुसार क्राइम ब्रांच की जांच में तलाश की जा रही है कि आखिर पेपर लीक कैसे हुआ। इसके साथ क्राइम ब्रांच पेपर लीक मामले की जांच में अन्य कई बिंदु भी केंद्र में है। जैसे कि क्या सीबीएसई मुख्यालय से लीक हुआ है पेपर? हालांकि, इसे लेकर अधिकारियों का कहना है कि ऐसा नामुमकिन सा लगता है। पेपर लीक परीक्षा केंद्र, सतर्कता दस्ता और स्कूल स्टाफ के जरिए क्या हो सकता है?

  • सीबीएसई के स्टाफ के साथ मिले हुए ट्यूटोरियल और कोचिंग केंद्रों से भी पेपर लीक हो सकता है।
  • पेपर लीक के बाद अब सरकार बेहद सख्ती बरतने जा रही है।

CBSE, एक पेपर के ले रहे थे 10 से 15 हजार रूपये

क्राइम ब्रांच प्रश्नपत्र लीक मामले के सिलसिले में कई लोगों पर सवाल उठा रहा है। जिसके लिए जांच शुरू कर दी गई है। दिल्ली पुलिस ने सीबीएसई कक्षा की 10वीं और 12वीं के प्रश्नपत्र लीक के सिलसिले में दो मामले दर्ज किए हैं।

  • सूत्रों के मुताबिक जांच में ये बात सामने आई है कि एक पेपर के लिए आरोपी 10 से 15 हजार रुपये तक लेते थे।

निदेशक ने दर्ज करवाई शिकायत

दिल्ली पुलिस ने कहा, “क्षेत्रीय निदेशक सीबीएसई की शिकायत पर, भारतीय दंड संहिता की धारा 406, 420 और 120 बी के तहत मामला दर्ज किया गया है। मामले की जांच के लिए एक विशेष जांच दल का गठन किया गया है।

  • CBSE बोर्ड के पेपर लीक हो जाने से देशभर के 19 लाख बच्चों पर असर पड़ा है।
  • इस साल बोर्ड की परीक्षा में लगभग 2,824,696 बच्चे शामिल हुए थे।
  • जिसके लिए हफ्ते भर के अंदर अब दोनों पेपर्स के लिए नई तारीख तय की जाएगी।
  • बच्चों के ऊपर अब दोबारा परीक्षा देने का दबाव भी आ गया है।

केंद्रीय मंत्री ने कड़े कदम उठाने के दिये निर्देश

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा है कि सीबीएसई ने पेपर लीक रोकने के लिए कड़े कदम उठाने के ​निर्देश दिये हैं। इसके साथ बोर्ड अब परीक्षा के आयोजन में नया पैटर्न अपनाने की तैयारी कर रहा है। सीबीएसई ने बताया है कि परीक्षा की तारीख की घोषणा एक सप्ताह के भीतर वेबसाइट के माध्यम से कर दी जाएगी।

  • अब इलेक्ट्रॉनिकली कोडेड पेपर एग्जामिनेशन सेंटर्स को भेजा जाएगा।
  • परीक्षा से आधा घंटे पहले सेंटर्स को इलेक्ट्रॉनिक पेपर भेजा जाएगा।
  • सीबीएसई का पेपर पासवर्ड प्रूफ होगा।
  • सेंटर पर ही प्रिंट आउट निकालकर छात्रों को एग्जाम पेपर बांटा जाएगा।
सीबीएसई ने अकाउंट्स के पेपर लीक की खबर को बताया था गलत

सीबीएसई ने अकाउंट्स के पेपर लीक की खबर को गलत बताया गया था।

  • जिसको सीबीएसई ने आधिकारिक नोटिफिकेशन जारी करते हुए पेपर लीक की खबर गलत बताई थी।
सीबीएसई क्षेत्रीय निदेश को किया गया था फैक्स

सूत्रों के अनुसार सीबीएसई बोर्ड 10वीं और 12वीं कक्षा के पेपर लीक मामले में दिल्ली के एक कोचिंग संस्थान के शामिल होने की बात सामने आ रही है।

  • सीबीएसई के क्षेत्रीय निदेशक के लिखे पत्र में कहा गया कि किसी ने उन्हें 23 मार्च को फैक्स किया था
  • जिसमें पेपर लीक मामले में विक्की नाम के शख्स का हाथ होने की बात लिखी गयी थी।
  • विक्की दिल्ली के राजेंद्र नगर के सेक्टर 8 में कोचिंग संस्थान चलाता है।
  • शिकायत पत्र में बोर्ड को बताया गया कि मामले में राजेंद्र नगर के दो स्कूल भी शामिल हैं

About Samar Saleel

Check Also

आरटीआइ कार्यकर्ता से आंकड़ा देने के बदले मांगे 20 लाख रूपये

तेलंगाना। आरटीआइ से जुड़ा एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है। एक आरटीआइ कार्यकर्ता ने ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *