Rae Bareli : कांग्रेस के गढ़ में भाजपाई दिग्गजों ने कसे तंज

रायबरेली। भाजपा की सुदृढ़ एवं पारदर्षी व्यवस्था से उसे लोगों का अपार समर्थन मिल रहा है। यह बात आगामी लोकसभा चुनाव में उसे अधिक मजबूती के साथ सत्ता में आने का अवसर देगी। यह बात पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने Rae Bareli में कही।

Rae Bareli से हटेगा एक परिवार का कब्जा: अमित शाह

Rae Bareli में अमित शाह पार्टी परिवर्तन संकल्प रैली में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि जिले को परिवारवाद से मुक्ति देने एवं विकास की मुख्य धारा में जोड़ने का संकल्प व्यक्त किया गया।

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने जहां कांग्रेस को भगवा आतंकवाद के लिये देश से माफी मांगने की सलाह दी, वहीं प्रदेश के मुख्यमंत्री ने कांग्रेस अध्यक्ष को न्यायपालिका पर आक्षेप लगाने पर माफी मांगने की नसीहत दे डाली। उन्होंने जिले में निर्माणाधीन एम्स की ओपीडी जुलाई माह में हर हाल में प्रारम्भ होने की बात कही। उनका यह भी कहना था कि मार्डन रेलकोच फैक्ट्री को और विस्तार दे।

जिले में विकास को नया आयाम दिया जायेगा

भाजपा की परिवर्तन संकल्प रैली में पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह एवं प्रदेश के मुखिया योगी आदित्यनाथ, प्रदेश अध्यक्ष डा०महेंद्र नाथ पाण्डेय, उपमुख्यमंत्री डा0 दिनेश शर्मा सहित एक दर्जन से अधिक कैबिनेट मंत्रियों के मध्य कांग्रेस एमएलसी दिनेश प्रताप सिंह, जिला पंचायत अध्यक्ष अवधेश प्रताप सिंह एवं उनके भाईयों ने भाजपा की सदस्यता ग्रहण की।

समारोह में पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि परिवारवाद के चलते इस जिले का विकास नहीं हो पाया। आजादी के बाद से ही यहां का प्रतिनिधित्व कांग्रेस के दिग्गज नेताओं के हाथ रहा। बावजूद इसके विकास की दौड़ में यह जनपद पिछड़ा ही रहा। भाजपा अब इस जिले का गुणात्मक विकास करेगी।’

उन्होंने कहा कि पूर्व में गुण्डों की सरकार के चलते प्रदेश अराजकता के दौर से गुजर रहा था। अब योगी की सरकार ने यहां कानून का राज स्थापित किया है। किसानों को उनके परिश्रम का सही मूल्य मिल रहा है।

रायबरेली लोकसभा क्षेत्र को आदर्श लोकसभा क्षेत्र बनाने की घोषणा

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि रायबरेली और अमेठी को विकास की मुख्य धारा से जोड़ा जायेगा। उनका कहना था कि 2019 तक प्रदेश के हर घर में शौचालय होगा। जबकि 2022 तक प्रदेश में हर व्यक्ति को आवास उपलब्ध करा दिया जायेगा।
उन्होंने कांग्रेस नेताओं द्वारा न्यायपालिका को ही कटघरे में खड़ा करने की निंदा करते हुए, इसके लिये कांग्रेस अध्यक्ष से देश से माफी मांगने की बात कही।

उपमुख्यमंत्री डा0 दिनेश शर्मा ने दिनेश प्रताप सिंह एवं उनके परिवार द्वारा भाजपा में सम्मिलित होने का स्वागत किया। उन्होंने विपक्षी महागठबंधन की यह कहकर खिल्ली उडाई कि ‘जिसका कोई एक मत नेता नही है वह आखिर किस के नेतृत्व में भाजपा की आंधी को रोकने का साहस कर पायेंगे।’

उनका कहना था कि 2019 में पहले से ज्यादा ताकतवर होकर भाजपा इस देश की कमान सम्भालेगी। इस अवसर पर कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य, अनुपमा जायसवाल, स्वाती सिंह, रीता बहुगुणा जोशी, सुरेश पासी समेत लगभग डेढ़ दर्जन मंत्री व विधायक मौजूद रहे।

पण्डाल में आग लगने से मची अफरा तफरी

परिवर्तन संकल्प रैली में सुरक्षा के सारे तामझाम को उस समय करारा झटका लगा जब एकाएक पत्रकार दीर्घा के बगल के पण्डाल में सार्टसर्किट से आग लग गयी। जिससे वहां पर अफरा-तफरी का माहौल पैदा हो गया।

एसपी शिवहरि मीणा ने तुरंत वहां पहुंचकर आग को बुझाने में तत्परता दिखाई। मौके पर पहुंचे फायर बिग्रेड के कर्मचारियों ने आग पर काबू पा लिया। लेकिन इस दौरान विचार व्यक्त कर रहे भाजपा प्रदेश अध्यक्ष को लगभग आधे घण्टे तक अपना भाषण रोकना पड़ा, क्योंकि पण्डाल में तीव्र धुएं का गुबार फैला हुआ था।

विधायक भाई ने बनाई मंच से दूरी

पंचवटी को एक सुर व ताल का खिताब देने वाले दिनेश सिंह राजनैतिक गणित के चलते अपने छोटे भाई एवं कांग्रेस विधायक राकेश प्रताप सिंह को मंच पर लाने में असर्मथ रहे। उन्होंने पूरी तैयारियों के मध्य एवं मंच के स्वागत समारोह तक से अपनी दूरी बनाये रखी। राजनीति के जानकार इसे भविष्य की रणनीति के रूप में देख रहे हैं।

उपमुख्यमंत्री ने लगाई जिले के आलाधिकारियों को फटकार

भाजपा आलाकमान एवं प्रदेश के मुखिया की मौजूदगी के बावजूद अधिकारियों की लापरवाही दिखने पर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री डा० दिनेश शर्मा की त्यौरी चढ़ गयी और उन्होंने मंच पर ही जिलाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक को सार्वजनिक रूप से झिड़की पिलाई।
मामला कुछ प्रदर्शनकारियों के हो हल्ला मचाने को लेकर था। उन्होंने पूछा यह सब क्या है? भविष्य में ऐसी कोई पुनरावृत्ति न हो इस बात का पूरा ख्याल रखा जाये।

जब मुख्यमंत्री ने मुकुट पहनने से किया इनकार

भाजपा में सम्मिलित होने के अवसर पर एमएलसी दिनेश प्रताप सिंह, भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को चांदी का मुकुट पहनाने के बाद जैसे ही मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ को मुकुट पहनाना चाहा तो उन्होंने मुकुट पहनने से इनकार करते हुए प्रदेश अध्यक्ष डा0 महेंद्र नाथ पाण्डेय को मुकुट पहनाने की सलाह दी। जिसके बाद एमएलसी मुख्यमंत्री को चांदी की गदा भेंट करते हुए उनकी चरण वंदना की।

शहर में आवागमन रहा बाधित

मुख्यमंत्री के आगमन ने शहर के आवागमन को लगभग पांच घंटे तक बाधित रखा। शहर के प्रमुख मार्गों पर बैरीकेटिंग लगाकर पुलिस प्रशासन ने वाहनों के प्रवेश को रोक रखा। परिणाम स्वरूप शहर के अन्य मार्गो पर वाहनों का भारी जमावड़ा लग गया। जबकि प्रमुख मार्गो पर पैदल चलना ही एक विकल्प बचा हुआ था। ऐसे में पूरा शहर अपरान्ह 11 बजे से लेकर सायं 4 बजे तक रेंगता नजर आया।

रिपोर्ट – दुर्गेश मिश्रा

About Samar Saleel

Check Also

देश की सेवा में शहीद हुए सैनिक की पत्नी को मिला यह तोहफा, हथेलियां बिछाकर लोगो ने…

वीरता के कई किस्‍से आपने सुने होंगे, मगर सैनिक की वीरगति के बाद वीरांगाना को जिस तरह ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *