cm yogi: अधिकारियों को लगाई फटकार, भ्रष्ट अफसर जायेंगे जेल होगी रिकवरी

ग्राम स्वराज अभियान के अंतर्गत प्रतापगढ़ जिले की पट्टी विधानसभा के कंधई मधुपुर गांव में CM Yogi आदित्यनाथ ने दो घंटे चौपाल लगाई। जनता ने सीएम को अपने बीच पाकर समर्थन में स्वागत करते हुए नारेबाजी की। सीएम ने चौपाल के दौरान जिले के डीएम, सीडीओ और डीपीआरओ के साथ अन्य अधिकारियों और कर्मचारियों से जनता के सामने विकास कार्यों की जानकारी ली। जिसमें कई अधिकारियों और कर्मचारियों से सीएम योगी के सवाल करने पर पसीना छूटने लगा और कार्यों में की जा रही लापरवाही को देखते हुए जनता के सामने ही सीएम ने अधिकारियों की जमकर फटकार लगाई। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जायेगी जल्द ही कार्रवाई की जायेगी। जिससे अफसर सकते में आ गये।

CM Yogi, शौचालय, राशनकार्ड, प्रधानमंत्री आवास योजनओं का हाल सीधे जनता से पूछा

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने चौपाल में माइक संभालने के बाद मोदी सरकार की शौचालय, राशनकार्ड, प्रधानमंत्री आवास योजनओं के साथ अन्य योजनाओं के कामकाज को गिनाते हुए गांवों में हुए विकास कार्यों का जायजा लिया। उन्होंने एक-एक कर सभी योजनाओं की समीक्षा करते हुए सीधे जनता से पूछा कि क्या सभी के घरों में शौचालय बने हैं। जिसमें न एक स्वर में न का जवाब आने के बाद सीएम योगी का पारा सातवें आसमान पर पहुंच गया। उन्होंने जनता के सामने डीएम शंभु कुमार, सीडीओ राजकमल और डीपीआरओ शाशिकांत पांडेय को मंच पर बुलाकर पूछतांछ शुरू कर दी। जिसके बाद अधिकारी सिर से पैर तक पसीने पसीने हो गये। सीएम योगी ने जनता के सामने ही अधिकारियों की जमकर क्लास ली।

  • सीएम ने लाभार्थियों के खाते में सुबह तक शौचालय की धनराशि पहुंचाने के लिए सख्ती के साथ फटकार लगाते हुए जवाबदेही तय करने के लिए कहा।
  • सीएम योगी खुद सूची हाथ में लेकर सत्यापन किया।

जनता ने अफसरों और कर्मचारियों पर लगाया घूस लेने का आरोप

जनता ने चौपाल में सीएम योगी के विकास कार्यों के बारे में पूछने पर अफसरों और कर्मचारियों पर आरोपों की बौछार लगा दी। जिसे सुनकर सीएम योगी अफसरों और कर्मचारियों पर भड़क गये। उन्होंने ऐसे भ्रष्ट अधिकारियों और कर्मचारियों को चिन्हित कर सख्त कार्रवाई करने के लिए तीखे स्वर में कहा। जिसके बाद अधिकारियों और कर्मचारियों के गले सूख गये।

कमीशनखोर और घूसखोर अफसरों को जेल भेजने के साथ की जाएगी संपत्ति से रिकवरी

जनता के बीच लगाई गई चौपाल के दौरान लोगों का आक्रोश देख अफसरों के प्रति सीएम के तेवर सख्त हो गए। पेंशन, हैंडपंप ओर पाइपलाइन के बारे में पूछने पर लोगों ने हंगामा किया। जिसे देखने के बाद सीएम ने कहा कि सरकार की योजनाओं में किसी तरह का भ्रष्टाचार बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि कमीशनखोर और घूसखोर अफसरों पर मुकदमा दर्ज कर न सिर्फ जेल भेजा जाएगा, बल्कि उनकी संपत्ति से रिकवरी भी की जाएगी।

  • सीएम योगी ने ग्रामीणों को योजनाओं का लाभ देने के लिए गांव में ही मंगलवार से एक सप्ताह तक कैंप लगाने के आदेश दिये।
  • उन्होंने कहा कि शिविर लगाकर लोगों को आवास, पेंशन, हैंडपंप, शैचालय, राशनकार्ड के साथ लोगों के जनधन खाते खुलवाने के लिए निर्देश दिये हैं।

रिपोर्ट—संदीप वर्मा

About Samar Saleel

Check Also

योगी सरकार का मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर चर्चाए हुई तेज

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की करीब ढाई वर्ष पुरानी योगी आदित्यनाथ सरकार का पहला मंत्रिमंडल विस्तार ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *