Nuclear reactor को पूरा करने के करीब सऊदी

सऊदी अरब अपने पहले परमाणु रिएक्टर Nuclear reactor को पूरा करने के करीब है। उपग्रह से ली गई तस्वीरों से यह जानकारी मिली है। इससे उद्योग को नियंत्रित करने वाले अंतर्राष्ट्रीय नियमों पर हस्ताक्षर किए बिना प्रौद्योगिकी का उपयोग के खतरे के बारे में चेतावनी दी गई है।

सऊदी का Nuclear reactor कार्यक्रम

गूगल अर्थ द्वारा प्रकाशित तस्वीरों के अनुसार, रिसर्च फैसिलिटी किंग अब्दुलअजीज सिटी फॉर साइंस एंड टेक्नोलॉजी के दक्षिण-पश्चिम में स्थित है। सार्वजनिक डोमेन में वह पहला है, जिसमे इस बात की पुष्टि की है कि सऊदी का Nuclear reactor परमाणु कार्यक्रम आगे बढ़ रहा है। तस्वीरों में दिख रहा है कि निर्माण का कार्य पूरा होने के करीब है, जहां परमाणु ईंधन को रखा जाएगा।

इस प्रगति की जानकारी ने हथियार नियंत्रण विशेषज्ञों के सामने चिंता पैदा कर दी है क्योंकि सऊदी अरब ने अभी तक नियमों की अंतर्राष्ट्रीय रूपरेखा पर हस्ताक्षर नहीं किया है। दरअसल, इसके जरिये अन्य परमाणु शक्तियों को यह सुनिश्चित करना होता है कि वह नागरिक परमाणु कार्यक्रमों का उपयोग हथियार बनाने के लिए नहीं करेगा।

परमाणु ईंधन मुहैया कराने वाले देश तब तक उसकी सप्लाई नहीं करेंगे, जब तक कि वियना में अंतर्राष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी के साथ नई निगरानी व्यवस्था को सील नहीं कर दिया जाता। सऊदी अरब के ऊर्जा मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि इस फैसिलिटी का मकसद अंतरराष्ट्रीय समझौतों के पूर्ण अनुपालन करते हुए कड़ाई से शांतिपूर्ण वैज्ञानिक, शोध, शैक्षिक और प्रशिक्षण गतिविधियों में शामिल होना है।
रिएक्टर को पारदर्शिता के साथ बनाया जा रहा है और राज्य ने सभी अंतरराष्ट्रीय अप्रसार संधियों पर हस्ताक्षर किए हैं। मंत्रालय ने कहा कि यह फैसिलिटी आगंतुकों के लिए खुली है। हथियार-नियंत्रण विशेषज्ञ सऊदी अरब के परमाणु कार्यों की जांच कर रहे हैं क्योंकि आधिकारिक बयानों के अनुसार, राज्य परमाणु हथियार हासिल करने की कोशिश कर सकता है।

 

About Samar Saleel

Check Also

इस कानून के तहत घर में सिगरेट पीने पर लगेगा प्रतिबंध, स्मोकर पर चलेगा यह केस

थाईलैंड में नया कानून लागू किया गया है. इसके तहत लोग अपने घर में भी सिगरेट ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *