भाजपा के खिलाफ हुआ जबरदस्त मतदान : अखिलेश

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि लोकसभा चुनाव के लिए हुए प्रथम चरण के मतदान में ही जनता ने भाजपा के खिलाफ जबरदस्त मतदान कर उसकी हवा निकाल दी है। भाजपाइयों के चेहरे उतर गए हैं। हर तरफ समाजवादी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी और राष्ट्रीय लोकदल गठबंधन का जोर है। यह गठबंधन महामिलावटी नहीं महापरिवर्तन के लिए है। यह विचारों का संगम है। उन्होंने मतदाताओं से अपील की कि वे अपना एक-एक वोट गठबंधन के प्रत्याशियों को देकर देश में नई सरकार और नए प्रधानमंत्री का चुनाव करें।

polling-against-bjp-akhilesh

भाजपा को हराना जरूरी

श्री अखिलेश ने आज सम्भल में डॉ. शफीकुर्रहमान वर्क, अमरोहा में दानिश अली तथा बरेली में भगवत शरण गंगवार के पक्ष में आयोजित चुनावी जनसभाओं को सम्बोधित किया। उन्होंने कहा भाजपा को हराना इसलिए जरूरी है क्योंकि वह नफरत की राजनीति करती है। अंग्रेजों ने बांटो और राज करो की नीति चलाई थी। भाजपा भी यही नीति अपना कर समाज को जाति-धर्म में बांटने का काम कर रही है। भाजपा की दिल्ली सरकार फेल है इसकी जरूरत नहीं रह गई है। सामाजिक न्याय से महापरिवर्तन को कामयाबी मिलेगी।

श्री यादव ने कहा कि डॉ. लोहिया और डॉ. अम्बेडकर मिलकर चलना चाहते थे पर परिस्थितियों ने मौका नहीं दिया। फिर कांशीराम जी के साथ समाजवादी रिश्ता बना। अब समाजवादी पार्टी-बहुजन समाज पार्टी गठबंधन भाजपा को सबक सिखाएगा। भारत में सदियों से विभिन्न धर्मों, जातियों के लोग रहते आए हैं इनमें विभेद पैदा करने की साजिशें भाजपाई करते हैं। देश तभी मजबूत होगा जब हमारे अन्दर भाईचारा, परस्पर सम्मान और विश्वास की भावना होगी।

मतदातओं का रूझान गठबंधन की ओर : राजेन्द्र चौधरी

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय सचिव राजेन्द्र चौधरी ने कहा है कि 17वीं लोकसभा चुनाव के लिए पहले चरण में उत्तर प्रदेश की आठ सीटों पर आज हुए मतदान में मतदाताओं का एकजुट रूझान समाजवादी पार्टी-बहुजन समाज पार्टी और राष्ट्रीय लोकदल गठबंधन के पक्ष में दिखाई दिया है जिससे भाजपा को भी सत्ता से बेदखली का पहला जनादेश मिल गया है। मतदाताओं को पांच साल तक धोखा देनेवाली और वादाखिलाफी करनेवाली भाजपा को सबक सिखाने का इसी दिन का इंतजार था और उसने अपने आक्रोश को मजबूती से आज जाहिर भी कर दिया है।

About Samar Saleel

Check Also

लगभग 14 महीने में पूरा होगा जम्मू व कश्मीर का परिसीमन, उठाए जाएंगे यह कदम

जम्मू व कश्मीर को दो केन्द्र शासित प्रदेशों में विभाजित किए जाने के कुछ दिनों बाद, चुनाव आयोग परिसीमन ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *