Yeddyurappa Government : शपथ लेने के तुरन्त बाद माफ किया किसानों का कर्ज

कर्नाटक में आखिरकार भाजपा की सरकार बन गई है। आज गुरुवार को बीएस येदियुरप्पा ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ले ली है। येदियुरप्पा कर्नाटक के 24वें मुख्यमंत्री बने हैं। Yeddyurappa Government को 21 मई तक विधानसभा में अपना बहुमत साबित करना है।

Yeddyurappa Government : किसानों के लिए उठाया पहला कदम

मुख्यमंत्री का पद संभालते ही Yeddyurappa Government येदियुरप्पा सरकार ने कर्नाटक के किसानों को एक बड़ी सौगात दे दी है।उन्होने कर्नाटक में किसानों की कर्जमाफी का ऐलान कर दिया है, बस इसका औपचारिक ऐलान होना बाकी है। येदियुरप्पा के इस ऐलान के बाद कर्नाटक के करीब एक लाख किसानों को इसका फायदा होगा। गुरुवार को सीएम पद की शपथ लेने के बाद बीएस येदियुरप्पा ने कहा कि मैं अपने वायदे के मुताबिक इस मंच से कर्नाटक के किसानों की कर्जमाफी का ऐलान करता हूं।

इसके अलावा येदियुरप्पा ने कहा कि हमें सौ फीसदी यकीन है कि राज्यपाल के द्वारा दिए गए तय समय में ही हम बहुमत साबित कर देंगे। बीएस येदियुरप्पा ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने मुझे जो जिम्मेदारी दी है उसके लिए मैं उनका शुक्रगुजार हूं।

मैं राज्य के किसानों और एससी-एसटी का शुक्रगुजार हूं कि उन्होंने मुझे चुना है, मैं उन्हें भरोसा दिलाता हूं कि मैं उनसे किए सभी वायदे पूरा करूंगा : येदियुरप्पा

सदन में सिद्ध करूंगा बहुमत और पाँच साल चलाऊंगा सरकार : येदियुरप्पा

येदियुरप्पा ने कहा,”मैं सभी 224 विधायकों के समर्थन की अपील करता हूं, मुझे उम्मीद है कि वह अपनी अंतरात्मा की आवाज सुनकर मेरा समर्थन करेंगे। मुझे भरोसा है कि मैं विधानसभा में विश्वास मत प्राप्त करूंगा और अगले 5 साल तक राज्य की सरकार का नेतृत्व करूंगा।”

कर्नाटक के विधानसभा चुनाव में बीजेपी को मिला जनादेश राज्य के विकास के लिए है : येदियुरप्पा

उल्लेखनीय है कि कर्नाटक विधानसभा चुनाव के नतीजों में बीजेपी को 104 सीटें मिली हैं, जबकि कांग्रेस को 78 और जेडीएस को 38 सीटें मिली हैं। सबसे बड़ी पार्टी होने की वजह से राज्यपाल ने बीजेपी को पहले सरकार बनाने का न्योता भेजा था।

गिरीश अवस्थी

About Samar Saleel

Check Also

धारा 370 को लेकर दायर याचिका पर SC ने लगाई फटकार, CJI ने कहा- ‘ये किस तरह की याचिका है’

अनुच्छेद 370 को लेकर दायर की गई याचिका पर शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *