Theft की घटनाओं के बाद ग्रामीणों ने की घेराबंदी

रायबरेली। गुरुबख्शगंज थाना क्षेत्र के जतुवा टप्पा व दिदौर गांवों में विगत दिनों हुयी Theft की घटनाओं के बाद सतर्क हुए ग्रामीणों ने जतुवा गांव के पास बुधवार की सुबह मारुती कार में सवार दो संदिग्ध लोगों को ग्रामीणों ने घेराबंदी करके पकड़ लिया। जिसकी सूचना ग्रामीणों ने पुलिस को दी। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर दोनों संदिग्धों से पूछतांछ करते हुए जानकारी हासिल की। पुलिस ने दोनों को थाने ले जाकर गांव के लोगों का विरोध किया।

  • ग्रामीणों का आरोप था कि पुलिस उन्हें थाने से छोड़ सकती है, इसलिए पुलिस गांव वालों के समक्ष उनसे पूछतांछ करे, लेकिन पुलिस उन्हें थाने ले गयी।

Theft, पुलिस ने ग्रामीणों फंसे वाहनों को खुलवाया

पुलिस के मौके से चले जाने के बाद कुछ लोगों नें ग्रामीणों को उकसाकर रायबरेली गुरुबख्शगंज मार्ग पर जाम लगवा दिया। जिसमें एम्बुलेंस के अलावा अनेक वाहन फंस गए। रास्ता जाम करने की सूचना के बाद मौके पर पहुंची। पुलिस ने काफी मसक्कत के बाद जाम खुलवाया। इस असंवैधानिक कृत्य को अंजाम देने के आरोप में जतुवा गांव के लगभग आधा दर्जन लोगों को हिरासत में थाने ले आयी। पुलिस पूंछतांछ में लगी है।

  • जबकि जाम के लिए लोगों को उकसाने में आधा दर्जन लोगों के विरुद्ध मुकदमा पंजीकृत किया गया है।

पुलिस ने संदिग्धों से की पूछतांछ

पुलिस व ग्रामीणों से इस पूरी घटना के बारे में मिली जानकारी के मुताबिक थाना क्षेत्र के जतुवा टप्पा के पास बुधवार को सुबह लगभग 9 बजे एक मारुति 800 कार आकर रुकी। उसमें सवार दो लोग काफी देर तक सड़क के दोनों ओर कुछ तलाशते रहे। इसी कार में यही लोग बीते रविवार को इसी स्थान पर आकर रुके थे। आस-पास के लोगों को उन पर शक हुआ। लोग इकट्ठा होकर उनके पास पहुंचे और पूंछतांछ करने लगे। गाड़ी की तलाशी ली गयी तो उसमें एक एयर गन, फावड़ा व बेलचा मिला। पिछले दिनों गांव में चोरी की घटनायें हो चुकी हैं, इसलिए ग्रामीणों ने इकट्ठा होकर दोनों को दबोच लिया। मौके पर पहुंचे गुरुबख्शगंज थाने के प्रभारी निरीक्षक विनोद कुमार सिंह ने दोनों से पूंछतांछ की और थाने ले आये।

  • ग्रामीण संदिग्धों से मौके पर ही सख्ती से पूंछतांछ की मांग पर अड़े थे, लेकिन पुलिस ने ऐसा नहीं किया।
  • अत: पुलिस के जाने के बाद उत्तेजित ग्रामीणों ने सड़क पर तख्त व बेंच डालकर जाम लगा दिया।
  • इस जाम में दो एम्बुलेन्स, उन्नाव जिले के एक उपजिलाधिकारी के साथ सैकड़ों लोग वाहनों के साथ जाम में फंस गए।

पुलिस ने खुलवाया जाम

मार्ग जाम होने की सूचना पर पुनः मौके पर भारी फ़ोर्स के साथ पहुंची पुलिस को देख कर ग्रामीण और उत्तेजित हो गए। किसी तरह जाम खुलवाया गया। जाम लगवाने व लोगों को उकसाने के आरोप में आधा दर्जन लोगों को पकड़कर पुलिस थाने ले गई। इनमें दीपक सिंह विन्देश कुमार, दुर्गेश कुमार, रमा पत्नी माधव सिंह एवं टाइगर उर्फ अनीत के विरुद्ध पुलिस ने मार्ग जाम करने के साथ सरकारी काम में बाधा डालने सहित अनेक धाराओं में मुकदमा पंजीकृत किया। जबकि पकड़े गए संदिग्ध लोगों से कड़े तरीके से पूछतांछ की गई। दोनों संदिग्ध लोगों में एक ने पुलिस को बताया कि वह लखनऊ का निवासी है। जो खाद्य एवं रसद विभाग अमेठी में सहायक लिपिक के पद पर तैनात है और रायबरेली के त्रिपुला में किराए के मकान में रहता है।वह अपने रिश्तेदार के साथ चूहा पकड़ने के लिए आया था।

  • पुलिस के अनुसार लोग खेतों में बने गड्ढों की खुदाई कर चूहे पकड़ते हैं और खाते है।
  • पुलिस ने बताया कि अमेठी के जिला खाद्य एवं विपणन अधिकारी से मिली जानकारी के अनुसार युवक उनके विभाग में कार्यरत है।
  • दोनों से पूछतांछ की जा रही है।
  • थानाध्यक्ष विनोद सिंह ने बताया कि अगर कोई अन्य सच्चाई सामने आती है तो उचित करवाई की जाएगी।

रिपोर्ट—गिरीश अवस्थी/दुर्गेश मिश्रा

About Samar Saleel

Check Also

कछुओं ने महिला को बनाया शिकार

आगरा। शमसाबाद के गांव बांस बले में बुजुर्ग महिला को कछुओं ने हमला कर शिकार ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *