Kumbh के पूर्व इलाहाबाद को सजाने और सँवारनें की बनी रणनीति

इलाहाबाद। कुम्भ Kumbh की तैयारी में इलाहाबाद नगर को सुन्दर बनाने के लिए पूरे शहर और मेला के प्रस्तावित क्षेत्र में 2 लाख से अधिक पौधे लगाकर इलाहाबाद की हरियाली फिर से वापस लाने की योजना पर कार्य प्रारम्भ कर दिया गया है।

Kumbh के पूर्व नगर के सुन्दरीकरण की रूपरेखा तैयार

कुम्भ Kumbh के पूर्व नगर में तथा समीपवर्ती क्षेत्रों में विकास की तैयारियां जोर-शोर से चल रही है। साथ ही नगर को सजाने की योजनाएं वृहदरूप में क्रियान्वित की जानी है। पेंट माई सिटी अभियान औपचारिक रूप से एक बड़ी परियोजना का रूप ले रहा है। इसी प्रकार 2019 के कुम्भ तक नगर के सभी क्षेत्रों में विकास के साथ नगर को सुन्दर बनाने और सजाने का कार्य भी एक अभियान की तरह चलाएं जाने की कार्ययोजना बन चुकी है।

इसी विषय पर आज मण्डलायुक्त डाॅ0 आशीष कुमार गोयल की अध्यक्षता में गांधी सभागार की बैठक में शहर को तथा कुम्भ क्षेत्र को सजाने की कई योजनाएं निर्धारित की गई है तथा जनसहभागिता के साथ नगर के सुन्दरीकरण की रूपरेखा तैयार की गयी है।

विकास कार्य के दौरान काटे गये वृक्षों से 10 गुना अधिक पौधे लगाने का संकल्प

बैठक का मुख्य बिन्दु इलाहाबाद नगर तथा समीपवर्ती क्षेत्रों में हरियाली बढ़ाने तथा विकास कार्यों के दौरान काटे गए पेड़ों की भरपाई उनके 10 गुने से अधिक पेड़ों को रोपित करते हुए नगर को हरा-भरा करने पर केन्द्रित रहा। मण्डलायुक्त की अध्यक्षता में सर्वाधिक बल शहर में काटे गये पेड़ों के स्थान पर उनसे कई गुना अधिक पेड़ फिर से लगाए जाने पर दिया गया। बैठक में यह तथ्य प्रकाश में आया कि अब तक नगर में विभिन्न कार्यदायी संस्थाओं द्वारा अधिकतम 1840 पेड़ काटें गये है। मण्डलायुक्त द्वारा इस पर विचार-विमर्श किया गया। उपाध्यक्ष एडीए द्वारा अवगत कराया गया है कि काटे गये पेड़ों के मुकाबले 10 गुना से अधिक पेड़ पूरे नगर में तथा विशेषकर कटान वाले क्षेत्रों में ही लगाये जायेंगे।

विकास प्राधिकरण लगायेगा 18000 से अधिक वृक्ष

उपाध्यक्ष एडीए द्वारा अवगत कराया गया है कि 18000 की संख्या में पेड़ केवल विकास प्राधिकरण द्वारा लगाए जा रहे है। वृक्षारोपण के इसी सीजन में विभिन्न प्रजातियों के बड़े वृक्षों के पौधों पूरे शहर में 18000 की संख्या में रोपित किए जाएंगे तथा जो अब तक करायें गए पेड़ों के 10 गुने से अधिक होंगे।

मण्डलायुक्त ने इस बात का ध्यान रखने को कहा कि की सभी वृक्ष की न्यूनतम ऊंचाई 10 फीट से अधिक होनी चाहिए। यह कार्य पूरा करने के लिए प्राधिकरण द्वारा नगर के विभिन्न क्षेत्रों में तथा कुम्भ के सीमावर्ती क्षेत्रों में 1 लाख से अधिक अतिरिक्त वृक्ष भी इसी सीजन में रोपित किए जाने है। इसी प्रकार अन्य विभागों के द्वारा भी इस सीजन में वृक्षारोपण का सघन अभियान जन आंदोलन के रूप में आगामी बरसात के महीने में चलाया जायेगा। जिससे इलाहाबाद की हरियाली न केवल पुराने के रूप में लौटायी जा सकेगी बल्कि उससे भी अधिक बढायी जायेगी।

कुम्भ में 2 लाख से अधिक गमलों से सजेगा इलाहाबाद

बैठक में विचार-विमर्श के उपरान्त मण्डलायुक्त ने उद्यान विभाग के अधिकारियों को यह निर्देश दिए कि इलाहाबाद को व्यापक वृक्षारोपण से हरा-भरा करने के साथ-साथ चौड़ी हो चुकी सड़कों, चौराहों तथा मेला क्षेत्र में सीजनल तथा बारहमासी पौधों केे गमलों से भी सजाएं और उद्यान विभाग को 2 लाख से अधिक बड़े गमलों में कुम्भ के समय तक मजबूती से तैयार हो जाने वाले बारहमासी पौधों तथा फूलों के पौधों से सजाते हुए ये गमले नगर के प्रमुख सड़कों और चौराहों पर कुम्भ के पूर्व तैयार करके रख देने के निर्देश दिए गए है।

नागरिक भी नगर की सफाई तथा सजावट में दे सहयोग : मण्डलायुक्त

मण्डलायुक्त ने एक संकल्प को कुम्भ से जुड़े सभी कार्यदायी संस्थाओं, अधिकारियों और स्थानीय प्रशासन को दिया है कि वे स्वयं भी रूचि लेकर इस संकल्प को पूरा करायें। परेड ग्राउण्ड की सड़कों के किनारे तथा अन्य उपयुक्त स्थानों पर बड़े वृक्षों के सघन पौधारोपण़ की योजना आज बनायी गई।

ज्ञात है कि मण्डलायुक्त नें इसके पूर्व पार्कों के विकास में भी हरियाली क्षेत्र को दो-तिहाई से अधिक रखने के निर्देंश दिए है। परेड क्षेत्र तथा नगर की सड़कों को पहले से कई गुना से अधिक संख्या में वृक्षारोपण कराये जाने से नगर की सुन्दरता तथा पर्यावरण में चार-चांद लग जायेगा।

बैठक में मण्डलायुक्त ने उद्यान विभाग के अधिकारियों को यह निर्देश दिया कि सीमेंट, फाइवर अथवा मिट्टी के आकर्षक गमलें तैयार करते हुए उनमें 2 लाख की संख्या में फूल वाले सुन्दर पौधे तैयार करने की कार्रवाई अभी से प्रारम्भ कर दी जायें तथा गमलों का आकार तथा डिजाईन अभी से निर्धारित करते हुए उन्हें किन सड़कों पर और किन चैराहों पर तथा कितनी संख्या में रखना है इसका स्पष्ट प्रस्ताव एवं डीपीआर तैयार कर तत्काल प्रस्तुत करने के निर्देश दिए गए है।

विकास कार्यों के दौरान निकले मलबे, मिट्टी और कूड़े के ढे़र तत्काल हटाने के मण्डलायुक्त के निर्देश

बैठक में नगर के सुन्दरीकरण की चर्चा के दौरान मण्डलायुक्त ने कड़ाई से निर्देश दिए कि सड़कों पर निर्माण कार्य के दौरान सड़कों पर मलवे की सफाई तथा उन्हें हटा लेने का कार्य काम के साथ पूरा कर दिया जाये। सभी कार्यदायी संस्था अपना मलवा तत्काल हटा लेने के लिए जवाबदेह होंगी तथा अगर मलवा सड़क पर पड़ा दिखाई दिया तो सम्बन्धित अधिकारियों और उसके ठेकेदार पर कड़ी कार्रवाई की जायेंगी।

मण्डलायुक्त ने नगर निगम के अधिकारियों को कड़े निर्देश दिए कि पूरे नगर निगम क्षेत्र में सड़क के किनारे पड़े मिट्टी के ढेर, कुड़ा अथवा गोबर इत्यादि को तत्काल हटा दिया जाये। नगर निगम नगर की सफाई का अभियान आज ही से आरम्भ कर दे तथा शहर के गन्दगी के ढेर और मलवों को हटा कर उसके निस्तारण स्थान तक पहुंचा दिया जायें। इसी प्रकार मेला प्रशासन के अधिकारियों को मण्डलायुक्त ने निर्देश दिया कि स्नान घाटों तथा पूरे मेला क्षेत्र के सफाई मेला प्राधिकरण के द्वारा प्रारम्भ कर दिया जाये।

जन अभियान चलकर हर नगरवासी को जागरूक किया जाये : मण्डलायुक्त

मण्डलायुक्त ने विकास प्राधिकरण, नगर निगम और मेला प्रशासन के अधिकारियों को यह निर्देश दिया कि कुम्भ तक सड़कों के चौड़ीकरण, चौराहों के विस्तार, फ्लाईओवरों के निर्माण एवं अन्य विकास कार्य अक्टूबर 2018 तक पूरे हो जाने के बाद प्रशासन, नगर वासियों के साथ मिल कर शहर को सजाने का एक जन अभियान चलाएं तथा हर नगरवासी को जागरूक किया जाये कि वे अपने आस-पास न केवल सफाई रखे, बल्कि अपने घर के सामने की सड़कों, चौराहों और पार्कों को कुम्भ के दृष्टिकोण से सजाने के लिए अभियान में शामिल हो।

इसके लिए शहर के व्यापार मण्डल, सिविल डिफेन्स, स्वयंसेवी संस्थाओं के साथ मिल बैठकर घरों और बाजारों को कुम्भ के लिए सजाने की योजना बनाने के निर्देश प्रशासन को मण्डलायुक्त ने दिए। उन्होंने कुम्भ के स्टेक होल्डर की बैठक कर उन्हें शामिल करते हुए तथा उनकों प्रशिक्षित करने की योजना बनाने के लिए जिलाधिकारी, उपाध्यक्ष विकास प्राधिकरण एवं अन्य अधिकारियों को निर्देश दिए गए।

कुम्भ के पूर्व खूबसूरत कियोस्क, पोस्टरों और झंण्डों से सजेगा इलाहाबाद

मण्डलायुक्त ने कुम्भ के पूर्व टूरिस्ट गाइड, ई-रिक्शा, आॅटो रिक्शा, नाविकों और दुकानदारों को इस हेतु जागरूक करने और प्रशिक्षित करने की योजना तैयार करने के निर्देश दिए। नगर की चौड़ी सड़कों के बीच डिवाईडर पर स्थापित तथा सड़कों के किनारे बिजली के खम्बों पर कुम्भ तथा प्रयाग की गरिमा से सम्बन्धित कियोस्क तथा पोस्टर लगाकर नगर को सजाने की बात मण्डलायुक्त ने कहीं।

केवल धार्मिंक ही नहीं एक विकसित और सुन्दर नगर के रूप में इलाहाबाद को बनायें पर्यटन व आकर्षण का केन्द्र : मण्डलायुक्त

इसी प्रकार नगर में वेडिंग जोन विकसित करने, नाव की पेंटिंग तथा उनके ऊपर का कवर आकर्षक रूप में पेंट किए जाने के लिए मेला प्राधिकरण को जिम्मेदारी दी गई। बक्शी बांध के सुन्दरीकरण किए जाने वाले कार्य तथा विशिष्ट विशेषताओं को प्रस्ताव विकास प्राधिकरण को तत्काल प्रस्तुत किए जाने के निर्देश मण्डलायुक्त ने दिए।

सड़कों पर स्ट्रीट लाईट तथा महत्वपूर्ण स्मारकों पर लाईटिंग पर भी विचार-विमर्श किया गया तथा यह योजना बनाई गई कि कुम्भ प्रारम्भ होने से पूर्व पूरे शहर को रंग-बिरंगे झण्डों तथा लैम्पों से सजाया जाए। किले की दीवार में वाॅल राइटिग तथा आवांछित पौधों से मुक्त कराते हुए उसकी सफाई तथा पेंटिंग की योजना बनाई गई है। मण्डलायुक्त को अवगत कराया गया कि अक्टूबर 2018 तक हर हाल में सड़कों के चौड़ीकरण और चौराहों का विस्तारीकरण, फ्लाईओवरों का निर्माण, आरयूबी का चौड़ीकरण आदि कार्य पूरे हो जायेंगे।

आलोक चतुर्वेदी

About Samar Saleel

Check Also

देश की सेवा में शहीद हुए सैनिक की पत्नी को मिला यह तोहफा, हथेलियां बिछाकर लोगो ने…

वीरता के कई किस्‍से आपने सुने होंगे, मगर सैनिक की वीरगति के बाद वीरांगाना को जिस तरह ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *