Ganesha : मूर्ति लाते समय इन बातों का रखें ध्यान

हिन्दू धर्म में किसी भी मंगल कार्य को करने से पहले भगवन गणेश Ganesha की पूजा की जाती है। उन्हें विघ्नहर्ता कहा जाता है। लोग इनकी मूर्तियों आदि की पूजा करते है किन्तु ये नहीं जानते की गणेश की किस तरह की मूर्ति की पूजा करना सर्वोचित है।

इस तरह की Ganesha प्रतिमा घर में स्थापित करें, अवश्य होगा लाभ

  • रविवार या पुष्य नक्षत्र में श्वेतार्क Ganesha गणेश की मूर्ति घर लेकर आएं और नियमित रूप से इनकी पूजा अर्चना करें। गणेश जी की यह मूर्ति धन और सुख वृद्धि कारक मानी जाती है।
  • क्रिस्टल की बनी गणेश जी की मूर्ति को वास्तु दोष दूर करने में बहुत ही प्रभावी माना जाता है। साथ ही क्रिस्टल से बनी लक्ष्मी जी की मूर्ति की पूजा धन और सौभाग्य लाती हैं।
  • हल्दी से गणेश जी की मूर्ति बनाकर रखें। गणेश जी की यह मूर्ति बहुत ही शुभ व सुख दायक मानी जाती है।
  • गाय के गोबर से बनी गणेश जी की मूर्ति धन वृधिकारक मानी गई है।
  • वैसे तो भगवान गणेश को सभी रूपों में शुभ और मंगलकरी माना जाता है लेकिन वास्तु के अनुसार इस तरह गणेश जी की मूर्ति को घर में रखना काफी शुभ माना जाता है।
  • बहुत से लोग भगवान गणेश की मूर्ति घर के मुख्य दरवाजे पर लगाते है। ऐसे में आम, पीपल, नीम के बने गणेश जी की मूर्ति को घर के मुख्य दरवाजे पर रखें। इससे घर में पॉजिटिव एनर्जी आती है जो धन और सुख में वृद्धि करने में मदद करती है।

About Samar Saleel

Check Also

राशिफल : जानिये आज कैसा रहेगा आपका दिन देखे अपना राशिफल व आज का पंचांग

12 राशियों में से हर आदमी की अलग राशि होती है, जिसकी मदद से आदमी यह जान सकता है ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *