Jammu-Kashmir में लग सकता है राज्‍यपाल शासन

नई दिल्‍ली। Jammu-Kashmir में बीजेपी और पीडीपी गठबंधन टूटने के बाद राज्‍य में राज्‍यपाल शासन लगाने की कवायद तेज हो गई है। इस घटना के बाद से राष्‍ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल और केंद्रीय गृह सचिव राजीव गौबा के बीच मुलाकात से अटकलें तेज हो गई हैं। इस मुलाकत में राज्‍यपाल एनएन वोहरा के दो सलाहकारों के नाम हैं। डोभाल और गौबा की मुलाकात में राज्‍यपाल के प्रशासनिक सलाहकार और पुलिस सलाहकार के नामों पर भी चर्चा हो रही है। दोनों को उनके पदों से हटाया जायेगा। इस दौरान गृह सचिव एनएसए को दोनों पदों के लिए नए नाम बताएं गये हैं, जिनका एनएसए अजित डोभाल पीएमओ से चर्चा करेंगे। जिसके बाद आगे निर्णय लिया जायेगा।

Jammu-Kashmir, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह से मिले अजित डोभाल

जम्मू कश्मीर में सियासी घटनाक्रम तेजी से बदलने के बाद एनएसए अजित डोभाल ने बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह से मुलाकात की। इस मुलाकात के दौरान उनके बीच क्या बातचीत हुई है, इसके बारे में अभी तक कोई जानकारी नहीं मिल सकी। लेकिन जम्‍मू-कश्‍मीर में पीडीपी और बीजेपी के बीच गठबंधन टूटने के बाद से बदलाव की उम्मीदें तेज हो गई हैं। वहीं एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने बीजेपी पर निशाना साधा है। ओवैसी ने कहा कि बीजेपी जम्‍मू-कश्‍मीर में राज्‍यपाल शासन लगाना चाहती है और वहां से धारा 370 हटाना चाहती है।

बीजेपी ने समर्थन लिया वापस

जम्मू-कश्मीर में पीडीपी-बीजेपी गठबंधन सरकार से बीजेपी ने अपना समर्थन वापस लेने के बाद मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। महबूबा ने अपना इस्तीफा राज्यपाल एनएन वोहरा को भेज दिया है। मुफ्ती ने इस्तीफे के बाद अगली रणनीति के लिए पीडीपी की बैठक बुलाई है।

About Samar Saleel

Check Also

अनुच्छेद 370: कश्मीर में 12 दिन बाद आया यह बड़ा बदलाव कई इलाकों में 2जी इंटरनेट सेवा की हुई शुरुआत  

जम्मू-कश्मीर में लगाए गए प्रतिबंध को चरणबद्ध ढंग से हटाना प्रारम्भ कर दिया है. शनिवार से कई इलाकों में 2जी ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *