Hygiene survey : प्रदेश में वाराणसी प्रथम तो लखनऊ रहा फिसड्डी

लखनऊ। स्वच्छता सर्वेक्षण hygiene survey कार्यक्रम के तहत शहरों की साफ़-सफाई को ध्यान में रखकर कराये गए एक सर्वेक्षण के आधार पर जारी की गई रैंकिंग लिस्ट में लखनऊ तमाम कोशिशों के बाद भी देश के 100 सबसे साफ शहरों में जगह नहीं बना पाया। बीते वर्ष की तरह ही इस बार भी पीएम नरेंद्र मोदी का संसदीय क्षेत्र वाराणसी उत्तर प्रदेश का सबसे साफ शहर बना है,उसे यूपी में पहला स्थान मिला है।

hygiene survey में गाजियाबाद दूसरा तो कानपुर को चौथा

वही पर्यटन की दृष्टि से सबसे अहम शहर आगरा को प्रदेश में पांचवां और देश में 102 स्थान प्राप्त हुआ है। इसी क्रम में गाजियाबाद दूसरे, झांसी तीसरे और कानपुर को चौथा स्थान मिला है।

यूपी को 18वां स्थान

  • सर्वेक्षण के आधार पर जारी की गई रैंकिंग लिस्ट में राज्यों की तुलना में जहां झारखंड टॉप पर है।
  • वहीं यूपी को 18वां स्थान मिला है।
  • इस लिस्ट में झारखंड के बाद महाराष्ट्र,छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश का नंबर है।
  • रैंकिंग लिस्ट में हिमाचल प्रदेश 16वें और गुजरात 17वें नंबर पर है।
  • जबकि त्रिपुरा को 31वें पायदान के साथ अंतिम स्थान मिला है।

सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट

इसी सर्वेक्षण के दौरान ही लोगों से पूछे गए सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट के लिए सिक्किम 262 अंकों के साथ सबसे टॉप पर है।इस क्रम में यूपी और हरियाणा 39 अंकों के साथ संयुक्त रूप से 17वें स्थान पर है।

नगर निगम कर्मियों की लाफरवाही

स्वच्छता सर्वेक्षण कार्यक्रम के तहत 2018 में 4020 शहरों ने भाग लिया था।इस सर्वेक्षण में सभी जिलों में स्थापित नगर निगम की साख दांव पर लगी हुई थी। यूपी के नगर विकास मंत्री सुरेश खन्ना के काफी प्रयासों और दौरों के बावजूत भी नगर निगम कर्मियों की लापरवाही का ही नतीजा रहा ही राजधानी इस स्वच्छता सर्वेक्षण में उत्तर प्रदेश में टॉप ट्री में जगह नहीं बना पाया।

ये भी पढ़ें – Sainik Sammelan : एसएसपी ने सुनीं समस्यायें

About Samar Saleel

Check Also

बेहतर पुलिसिंग से क्राइम को कंट्रोल किया जायेगा: एसपी स्वप्निल

रायबरेली। नवागत पुलिस अधीक्षक स्वप्निल ममगैन ने शुक्रवार की शाम कार्यभार ग्रहण कर लिया है। ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *