सांसत में लोगों की जान,नींद में जिम्मेदार!

रायबरेली/लालगंज. अज्ञात वाहन की टक्कर से क्षतिग्रस्त हुए गुरूबक्सगंज चौराहे पर बने बूथ को टूटने के दो सप्ताह बाद भी जिम्मेदारों ने इसे बनवाने की जहमत नही उठाई। लापरवाही का आलम यह है कि जरा सी असावधानी घटने पर किसी की बड़ा हादसा हो सकता है।बावजूद इसके जिम्मेदार इस ओर ध्यान नही दे रहे हैं।

बताते चलें लालगंज के गुरूबक्सगंज चौराहे पर बना गोल बूथ करीब पंद्रह दिन पहले अज्ञात वाहन की टक्कर लगने से एक तरफ झुक गया था। चार लोहे की पाइपों पर टिकी छत की अगर समय रहते ही मरम्मत नही कराई गई तो इसकी चपेट में आकर किसी की भी जान जा सकती है। छत का वजन कुंटलों में होने के कारण दिन-ब-दिन छत एक और झूकती जा रही है।रोज सुबह इस चौराहे पर काम की तलाश में आने वाले मजदूरों का जमावड़ा लगा रहता है। इस दौरान सुबह की कड़क धूप से बचने के लिए कुछ लोग इस छत के नीचे आकर खड़े हो जाते हैं जिससे बड़ी घटना का अंदेशा हमेशा ही बना रहता है।

आलम यह है कि शहर का मुख्य चौराहा होने के नाते यहां तैनात अधिकरियों का अक्सर इधर से ही आना जाना लगा रहता है,लेकिन किसी भी अधिकारी की नजर इस ओर नही पड़ रही। शायद तभी तो वो सभी जिम्मेदार किसी अप्रिय घटना के घटित होने का इंतजार कर रहे है।

रिपोर्ट: गब्बर सिंह

About Samar Saleel

Check Also

बिजली के खंभे में उतरा करंट,दो की मौत

शाहजहांपुर। जिले में बिजली का खंभा खड़ा करने के दौरान उसमें करंट आ गया और ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *