गायत्री का अवैध निर्माण हुआ धराशायी

लखनऊ. आखिरकार हाई कोर्ट के आदेशों के बाद सपा सरकार में लाल बत्ती धारक गायत्री प्रजापति का निर्माण शनिवार को धराशाई हो गया। सालेह नगर में स्थित 3850 स्क्वायर फुट में निर्माणधीन 1 मंजिला इमारत को ढाह दिया गया। पिछली सरकार में कद्दावर नेता रहे गायत्री प्रजापति का निर्माण ढाहने के लिए प्रशासन भी पूरी तरह से मुस्तैद दिखा।

निर्माण अवैध को ढाहने के लिए 4 जेसीबी और 3 पोकलैंड का इस्तेमाल किया गया जिनमें एक-एक में ड्रिलर लगाए गए थे। इसके साथ ही 5 इलेक्ट्रिक हैमर का भी इस्तेमाल किया गया। मौके पर मौजूद पुलिस बल भी कड़ी धूप में कूल दिखा। पुलिस बल ने बीती अवैध निर्माणों पर कार्रवाई को देखते हुए शील्ड और लाठियों के साथ टीयर गैस का इंतजाम भी कर रखा था। 12 बजे शुरू हुई गायत्री प्रजापति के निर्माण के खिलाफ कार्रवाई देर शाम तक चली। ये कार्रवाई 14 जून को होनी थी लेकिन गायत्री के बेटे अनुराग प्रजापति हाईकोर्ट की शरण में पहुंच गए और एलडीए के खिलाफ रिट दाखिल कर दी। रिट की सूचना मिलना के बाद एलडीए ने कार्रवाई पर ब्रेक लगा दिया था। लेकिन हाई कोर्ट ने न सिर्फ रिट को खारिज किया बल्कि एलडीए को निर्माण ढाहने के आदेश भी दे दिए।

बताते चलें कि बिना नक्शा पास कराए गायत्री ने पिछले सरकार में मंत्री रहते तीन मंजिला अवैध निर्माण आशियाना के सालेह नगर में खड़ा कर दिया था। एलडीए ने गायत्री की इसी अवैध निर्माण को सील भी किया था। आरोप है कि सालेह नगर में गायत्री प्रजापति ने सरकारी जमीन पर कब्जा कर अवैध निर्माण किया है। वहाँ काम्प्लेक्स बनवाया जा रहा है। खसरा संख्या 589ध्1 और 589ध्2 पर कॉन्प्लेक्स बनाया जा रहा था वह जमीन एलडीए की है। अवैध निर्माण को सील करने के लिए एलडीए ने 13 मार्च को नोटिस भेजी थी। 25 अप्रैल को 15 दिन में अवैध निर्माण खुद गिराने के आदेश दिए गए थे। लेकिन डेढ़ महीने बाद अब कोर्ट के आदेशों के बाद निर्माण तोड़ा जा सका।

कोर्ट द्वारा ध्वस्तीकरण आदेश के साथ अवैध निर्माण के लिए जिम्मेदार लोगों को चिन्हित करने के लिए भी कहा गया था। इसके समबन्ध में रिपोर्ट तैयार कर ली गयी है। सूत्रों की माने तो रिपोर्ट में अवैध निर्माण के समय सिस गोमती में तैनात रहे अधिशासी अभियंता एके सिंह, सहायक अभियंता राकेश मोहन, अवर अभियंता आरएन चैबे और पद्माकर मिश्र, दो सुपरवाइजर और एक मेठ शामिल हैं। ये रिपोर्ट एलडीए हाई कोर्ट में  19 जून को देगा।

About Samar Saleel

Check Also

फ्री की यात्रा में मेरठ की महिलाएं अव्वल

लखनऊ। प्रदेश में रक्षाबंधन पर 12.03 लाख महिलाओं ने परिवहन निगम की बसों में मुफ्त ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *