सिनेमा करता है मजबूर: कबीर खान

फिल्मकार कबीर खान का मानना है कि ऐसी फिल्म जो कोई संदेश देती हो, वह लोगों को सोचने के लिए बाध्य कर सकती है। हालांकि वे आशंका जताते हैं कि इससे वास्तविकता नहीं बदल सकती। वर्ष 2015 में आई फिल्म बजरंगी भाईजान के निर्देशक ने कहा कि उनकी इस फिल्म ने लोगों को भारत और पाकिस्तान के बीच संबंधों के बारे में सोचने को बाध्य किया। यह फिल्म एक भारतीय व्यक्ति के बारे में है जो एक बच्ची को पाकिस्तान में उसके घर पहुंचाने में मदद करता है। उन्होंने कहा, यह (सिनेमा) इतना शक्तिशाली है कि वह लोगों को सोचने और मंथन करने पर बाध्य कर सकता है, भले उन्हें बदल नहीं सके। बजरंगी भाईजान के बाद बहुत से लोगों ने सोचा कि भारत और पाकिस्तान के संबंध आखिर किस दिशा में बढ़ रहे हैं। जंग के मुकाबले क्या यह एक बेहतर विचार नहीं है? उन्होंने कहा कि सिनेमा लोगों को अपनी राय पर फिर से विचार करने को मजबूर करता है।

About Samar Saleel

Check Also

ट्रेडिशनल आउटफिट में बेहद खुबसूरत नज़र आई नायरा, दिल को छू रहा यह नया अंदाज़

आजकल कई टीवी एक्ट्रेस हैं जो साड़ी में फोटोशूट करवा रहीं हैं। ऐसे में इन सभी ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *