147 मेधावियों का हुआ सम्मान

लखनऊ. योगी ने सरकार पहली बार हाईस्कूल व इंटरमीडिएट पास 147 मेधावियों को एक-एक लाख रुपए और आईपैड देकर सम्मानित किया। गुरुवार को लोकभवन में आयोजित समारोह में सीएम योगी ने मेधावियों और उनके अभिभावकों को सम्मानित किया।

इस दौरान सीएम ने कहा उत्तर प्रदेश के माध्यमिक शिक्षा बोर्ड का परिणाम आने वाला था तो मैं भयभीत था। इससे पहले बिहार बोर्ड का रिजल्ट आया था। मुझे भय था बिहार की पुनरावृति यहां न हो।

योगी ने मेधावी छात्रों को संबोधित करते हुए कहा अगर आप सकारात्मक सोच के साथ आगे बढ़ रहे हैं तो आपको सफल होने से कोई नहीं रोक सकता।आपको जो आज सफलता मिली है,उसमें आपके अभिभावकों ने मेहनत की है,शिक्षकों ने मेहनत की है। उत्तर प्रदेश इस देश को एक प्रतिनिधित्व देने की क्षमता रखता है।भारत के विकास का रास्त यूपी से गुजरता है।

उत्तर प्रदेश के नौजवानों को जब अवसर मिला है उसने बुलंदियों का झंड़ा गाड़ा है। यहां कोई अयोग्य नहीं हो सकता। आप अपने पुरुषार्थ से अपने भाग्य को बदल सकते हैं। पलायन का रास्ता जीवन में मत अपनाइए। उन्होंने कहा जीवन संघर्ष का नाम है,जीवन परिश्रम का नाम है,जीवन पुरुषार्थ का नाम है। देश के अंदर कुछ राज्यों में बालिकाओं की संख्या बालकों से कम हो रही है,ये चिंता का विषय है। आज हम 147 मेधावियों का सम्मान कर रहे इनमें से 99 केवल बालिकाएं हैं। अब देखिए बालिकाएं हर क्षेत्र में आगे बढ़ रही हैं,उसके बाद भी भ्रूण हत्या हो रही है।

बालिकाओं की इतनी संख्या देख कर मुझे तो अच्छा लगता है कि बालिकाएं आगे बढ़ रही हैं। बालिकाओं ने हर क्षेत्र में अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाया है। खूब पढ़ा-खूब बढ़ो जीवन का मूल मंत्र हो सकता है।

अभिभावकों का किया सम्मान:

इस कार्यक्रम में मेधावी छात्र-छात्राओं की मां को शॉल ओढ़ाकर सम्मानित किया गया। वहीं, पिता को पगड़ी पहनाई गई।

छात्र-छात्राओं को दिया एक-एक लाख व आईपैड:

छात्र-छात्राओं को पटुका (गले में डालने वाला एक वस्त्र) पहना कर आईपैड, एक-एक लाख रुपए और प्रमाणपत्र सौंपा गया।इन समारोह में 147 मेधावियों को सम्मानित किया गया। इन मेधावियों ने अपने-अपने बोर्डों में टॉप टेन रैंक हासिल की है।इसमें 117 मेधावी यूपी बोर्ड के हाईस्कूल व इंटरमीडिएट की परीक्षा उत्तीर्ण हैं। इनमें हाईस्कूल के 30 और इंटरमीडिएट के 87 मेधावी हैं। वहीं सीबीएसई के बारहवीं पास 10 मेधावी हैं। वहीं आईसीएसई के 11 और आईएससी के 9 मेधावी शामिल हैं।

9 जून को उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा बोर्ड का परिणाम जारी होने के बाद मुख्यमंत्री ने 10वीं और 12वीं में प्रथम दस स्थान प्राप्त करने वाले मेधावी विद्यार्थियों को सम्मानित करने की घोषणा की थी। बता दें, यूपी इलेक्शन में बीजेपी की ओर से जारी चुनावी घोषणा पत्र में 12वीं की परीक्षा पास करने वाले छात्र-छात्राओं को मुफ्त लैपटॉप और एक साल तक इंटरनेट सुविधा प्रदान करने की बात कही गई है।

21लाख छात्र-छात्राओं को बंटने हैं लैपटॉप:

2017 में यूपी बोर्ड के 20 लाख और सीबीएसई व आईसीएसई के 1 लाख परीक्षार्थियों ने 12वीं बोर्ड की परीक्षा को उतीर्ण कर लिया है। ऐसे में अब सरकार को तकरीबन 21 लाख छात्र-छात्राओं के लिए लैपटॉप की व्यवस्था करनी होगी। फिलहाल इस दिशा में सरकार की ओर से अभी कोई फैसला नहीं लिया गया है।

About Samar Saleel

Check Also

बिजली के खंभे में उतरा करंट,दो की मौत

शाहजहांपुर। जिले में बिजली का खंभा खड़ा करने के दौरान उसमें करंट आ गया और ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *