Breaking News

90 डिग्री मुड़ गई इस लड़की की गर्दन, हर पल दर्द में जी रही

इस्लामाबाद। पाकिस्तान के सिंध में रहने वाली 11 साल की लड़की की गर्दन रहस्यमयी तरीके से 90 डिग्री के कोण पर मुड़ गई है। इसे सही कराने के लिए वह सर्जरी का बेसब्री से इंतजार कर रही है। माना जाता है कि अफशीन कुंभार को मांसपेशियों की बीमारी है, जिसकी वजह से उनकी गर्दन गंभीर रूप से मुड़ी हुई है, जिसे चिकित्सकीय भाषा में टॉर्टिकोलिस कहा जाता है।

यह समस्या पहली बार तब सामने आई थी, जब वह सिर्फ आठ महीने की थी और बाहर खेलते समय उसकी गर्दन में चोट लग गई थी। अपने सिर को सीधा रखने में असमर्थ अफशीन लगातार दर्द में जी रही है। उसे खाने, शौचालय का उपयोग करने और यहां तक ​​कि चलने तक के लिए संघर्ष करना पड़ रहा है। अपनी हालत की वजह से वह स्कूल जाने में भी असमर्थ है।

वह सिंध के मिठी में 52 साल की मां जमीलन और 27 साल के बड़े भाई मोहम्मद याकूब के साथ रहती है। परिवार को नहीं पता है कि उसका भविष्य क्या होगा। डॉक्टर भी यह देखकर हैरान है कि उसकी मुड़ी हुई गर्दन की क्या वजह है। पिछले साल कैंसर से पिता की मौत हो जाने के बाद से अफशीन की सर्जरी कराने में परिवार असमर्थ है। उसकी मां जमीलन दूसरे के घरों में काम करके करीब पांच सौ रुपए महीने में किसी तरह घर चला रही है।

अपनी बहन की हालत के बारे में बोलते हुए याकूब ने कहा- हम उसके भविष्य के लिए चिंतित हैं। हमें नहीं पता कि उसका क्या होगा। हम चिंतित हैं कि अगर उसे बिना इलाज के छोड़ दिया जाए, तो उसे कोई दूसरी बीमारी भी हो सकती है। रीढ़ की हड्डी या गले की मांसपेशियों में चोट लगने की वजह से टॉर्टिकुलिस की बीमारी होती है। इसकी वजह से उसकी गर्दन पर लगातार तनाव बना रहता है, जिससे उसकी मांसपेशियों में सूजन आ जाती है और तंत्रिका जड़ों पर दबाव पड़ता है।

याकूब ने कहा कि अफशीन छह भाई-बहनों में से एक है। वह स्वस्थ पैदा हुई थी, लेकिन हालात तब और बदतर हो गए जब वह आठ महीने की थी और बाहर खेलते समय गिर गई थी। अफशीन के माता-पिता ने शुरू में उसकी गर्दन को सीधा करने के बारे में कुछ भी नहीं सोचा था, लेकिन धीरे-धीरे उसकी स्थिति खराब होती गई। सीमित पैसों की वजह से वे आफशीन को लेकर एक स्थानीय पीर-फकीर के पास ले गए, लेकिन उसे कोई आराम नहीं हुआ।

अफशीन की हालत की तरफ दो साल पहले दुनिया भर का ध्यान खिंचा था, जिसके कारण ‘प्रमुख महिला वैश्विक नेता’ ने उसकी सर्जरी का खर्च उठाने की पेशकश की थी। उसे संभावित ऑपरेशन से पहले मेडिकल जांच के लिए पिछले साल फरवरी में कराची के आगा खान यूनिवर्सिटी हॉस्पिटल ले जाया गया था।

यकूब ने कहा कि डॉक्टरों ने हमें बताया कि सफल सर्जरी की संभावना करीब 50 फीसद ही है। लिहाजा, वे घर जाकर इस बारे में विचार करें। परिवार में एक शादी के कारण, ऑपरेशन में लगभग एक महीने की देरी हुई। हालांकि, याकूब ने दावा किया है कि जिन्होंने आफशीन के इलाज की पेशकश की थी, उन्हें बार-बार फोन करने पर भी कोई जवाब नहीं मिला।

उसने कहा कि मैं एक मोबाइल-फोन की दुकान पर काम करता था, लेकिन अपनी बहन को डॉक्टरों को दिखाने ले जाने के लिए मुझे काम छोड़ना पड़ा। अफशीन को अस्पताल ले जाने के लिए हमारे पास पैसे नहीं हैं। पिछले साल वह घर पर रही है और उसे किसी डॉक्टर ने नहीं देखा है। मैं सरकार और स्थानीय लोगों से अनुरोध कर रहा हूं कि कृपया मेरी बहन की मदद करें। उसे सामान्य जीवन जीने के लिए सर्जरी की जरूरत है।

 

About Jyoti Singh

Check Also

चीन के एक गैस प्लांट में धमाका, 2 लोगों की मौत, 12 लापता

चीन में एक गैस प्लांट में धमाका हो गया है. इस हादसे में 2 लोगों ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *