Basic shiksha parishad : यूपी में भर्ती होंगे एक लाख शिक्षक

लखनऊ। सरकारी टीचर बनने वालों के लिए एक अच्छी खुशखबरी है। बेसिक शिक्षा विभाग Basic shiksha parishadके अंतर्गत नवम्बर में टीचर्स की एक लाख वैकेंसी आने वाली है। अगर समय रहते ही टीचर बनने की चाहत रखने वाले अभी से उसके लिए तैयारी कर लें तो निश्चित रूप से उनको टीचर बनने से कोई नहीं रोक सकता। बेसिक शिक्षा विभाग नवम्बर माह में 95 हजार शिक्षकों की भर्ती के लिये परीक्षा करा सकता है। इसमें उन छात्रों को को भी परीक्षा देने के मौका मिलेगा जो 68500 शिक्षक भर्ती परीक्षा से छूट गये हैं। आपको बताते चलें कि 68500 में से 26944 पद रिक्त रह गये है जिन पर भर्ती होनी है।

95 हजार शिक्षकों की भर्ती करेगा Basic shiksha 

प्रदेश में शिक्षक पात्रता परीक्षा TET 2018 का आयोजन 6 नवंबर को होगा। प्राथमिक और उच्च विद्यालयों में 68500 पदों पर सहायक अध्यापक भर्ती के लिए लिखित परीक्षा 10 फरवरी 2019 को होगी। इसके लिए परीक्षा नियामक प्राधिकारी ने शासन को प्रस्ताव भेज दिया है। परीक्षा नियामक प्राधिकारी सुत्ता सिंह ने इस साल 6 नवंबर को टीईटी परीक्षा कराने का प्रस्ताव शासन को भेजा है। TET का परिणाम दिसंबर के अंतिम सप्ताह तक जारी करने के बाद 10 फरवरी 2019 को प्रदेश के सभी मंडल मुख्यालय पर सहायक अध्यापक भर्ती परीक्षा कराने का प्रस्ताव भेजा है। आपको बता दें 68500 पदों पर सहायक अध्यापक भर्ती परीक्षा कराने की योजना है। सहायक अध्यापक भर्ती परीक्षा 2018 में रिक्त रहे 26 हजार पदों को भी इसमें शामिल करने की स्थिति बनी है। यह आंकड़ा 95 हजार तक पहुंच सकता है।

41556 अभ्यर्थी सफल घोषित

उत्तर प्रदेश शिक्षक भर्ती परीक्षा 2018 का रिजल्ट सोमवार को घोषित कर दिया गया है। यह परीक्षा 68500 पदों पर भर्ती के लिए आयोजित हुई थी। इस परीक्षा में 41556 अभ्यर्थी सफल घोषित किए गए हैं। सहायक अध्यापक भर्ती परीक्षा २७ मई को 248 केंद्रों पर आयोजित हुई थी। कुल 125745 अभ्यर्थियों ने फार्म भरा था जिसमें से 107908 (85.81 प्रतिशत) अभ्यर्थियों ने परीक्षा दी थी। 17837 अभ्यर्थी अनुपस्थित रहे थे। उत्तर प्रदेश शिक्षक भर्ती लिखित परीक्षा में सामान्य और ओबीसी वर्ग को 45 प्रतिशत और एससी-एसटी को 40 प्रतिशत अंक पर उत्तीर्ण मानते हुए परीक्षा का परिणाम घोषित किया गया है।

ये भी पढ़ें :- Airo india show : पर भी राजनीति शुरू

About Samar Saleel

Check Also

दिल्ली सरकार का 10वीं-12वीं के छात्रों तोहफा- नहीं देनी होगी बोर्ड परीक्षा की फीस

सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकंडरी एजुकेशन (CBSE) के 10वीं और 12वीं बोर्ड की फीस बढ़ाने के ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *